साले ने तोड़ा जीजा की कार का शीशा

दौलतपुर चौक—नगर पंचायत दौलतपुर चौक के साथ लगते एक गांव मंे जीजा साले के रोचक झगड़े का मामला प्रकाश मंे आया है। जहां पंचायत और पुलिस तो पहुंची पर लोगों ने मामला बिगड़ता देख सूझबूझ दिखाते हुए समझौता करवा दिया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रविवार को मियां-बीबी में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। जिस पर तैश मंे आकर पत्नी ने अपने मायके में फोन कर दिया। मायके से उसका भाई और पिता और कुछ उनके साथ नजदीकी लोग रविवार की तपती दोपहरी जब तापमान 45 डिग्री के आसपास था उसके पास पहुंच गए। इसी गर्मी में साले और जीजा मंे बहस हो गई। हल्का गाली-गलौज भी शुरू हो गया। जब साले साहब ने गांव को घटिया बताना शुरू कर दिया तो हल्की धक्कामुक्की हो गई। जिससे जीजा की गाड़ी का शीशा टूट गया। जिस पर पंचायत और पुलिस भी मौके पहुंच गई। दोनों पक्षों को समझाने का कार्य शुरू हुआ, परंतु दोनों पार्टियां मानने को तैयार नहीं थीं। फिर जब पुलिस ने कागजी कार्रवाई शुरू करने की सोची तो गांव के कुछ बुद्धिजीवी वर्ग ने साले के साथ-साथ जीजा को भी समझाया कि छोटी सी नोकझोंक उनका रिश्ता तोड़ सकती है। ऊपर से बदनामी जो होगी वह अलग। जिस पर साला साहब ने पहल की और जीजा की गाड़ी का नया शीशा डलवाने का वादा किया तो जीजा जी शांत हो गए। आपसी समझौता होने से मामला दर्ज न हो पाया, परंतु जीजा-साले की तल्खी खूब चर्चा में रही। लोग खूब उत्सुकता से इसकी जानकारी बटोरते रहे।

You might also like