सिटको में एफडी घोटाले की रिपोर्ट सौंपी

चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एंड टूरिज्म डिवेलपमेंट कॉरपोरेशन मामला, नुकसान के लिए कंपनी के जनरल मैनेजर फाइनांस को जिम्मेदार ठहराया

चंडीगढ़ – चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एंड टूरिज्म डिवेलपमेंट कॉरपोरेशन (सिटको) में हुए एफडी घोटाले में जांच अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट मैनेजिंग डायरेक्टर सिटको को सौंप दी है। मामले की जांच कर रहे इंक्वॉयरी ऑफिसर ने सौंपी गई रिपोर्ट में सिटको को सीधे तौर पर हुए नुकसान के लिए सिटको के जनरल मैनेजर फाइनांस एंड अकाउंट्स को जिम्मेदार ठहराया गया है।  रिपोर्ट में लिखा गया है कि न सिर्फ इस नुकसान को जिम्मेदारी जीएम की है, बल्कि सिटको अथॉरिटी की तरफ  से जारी किए गए निर्देशों को भी नहीं माना गया। रिपोर्ट में सिफारिश की गई है कि जिम्मेदार अफसर पर कार्रवाई की जाए। दरअसल 7.25 करोड़ रुपए की एफडी को 5.50 परसेंट के ब्याज के हिसाब से 15 दिसंबर 2017 से 15 दिसंबर 2018 तक करवाया गया।  इन्क्वॉयरी के वक्त ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं दिखा सके, जिसमें एमडी सिटको से इसको लेकर कोई अपू्रवल ली गई हो। जांच रिपोर्ट के मुताबिक उस वक्त अगर इस रुपए को उसी बैंक के बजाय दूसरे बैंक में डिपॉजिट किया जाता तो ज्यादा ब्याज बनता। इससे करीब 8.70 लाख रुपए का लॉस सिटको को हुआ, जो कि साल का 1.20 प्रतिशत के हिसाब से बनता है। दरअसल इसी अमाउंट के लिए बैंक से बिड भी उस वक्त मंगवाई गई थी। इसमें बैंकों की तरफ  से 6.70 प्रतिशत ब्याज प्रति वर्ष दिए जाने को लेकर भी कहा गया था, लेकिन इसके बजाय 5.50 प्रतिशत ब्याज के हिसाब से इस रुपए की एफडी करवा दी गई। सिटको अब आफिसर्स पर कार्रवाई करेगी।

You might also like