सियाचिन में जवानों से मिले राजनाथ सिंह

लेह –रक्षा मंत्री बनने के बाद राजनाथ सिंह अपने पहले दौरे में सोमवार को दुनिया सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र- सियाचिन ग्लेशियर पहुंचे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सियाचिन बेस कैंप में जवानों के साथ मुलाकात की और युद्ध स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित किया। राजनाथ ने अपनी पहली यात्रा के लिए चीन और पाकिस्तान से सटे लद्दाख क्षेत्र का चुनाव किया है, जो अपने आप में खास है। लेह में तैनात 14 पलटनों ने नए रक्षा मंत्री को ताजा हालात के बारे में जानकारी दी। ये पलटने ही पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) और चीन से सटी सीमाओं की देखरेख करती हैं। रक्षा मंत्री के साथ आर्मी चीफ बिपिन रावत भी मौजूद थे। राजनाथ सिंह ने वहां मौजूद जवानों के साथ बैठकर फोटो खिंचवाई और उनका हालचाल पूछा। सियाचिन समुद्र से करीब 20 हजार फुट की ऊंचाई पर है और सालभर बर्फ की मोटी चादर से ढका रहता है। यह दुनिया का सबसे ठंडा युद्धक्षेत्र है। बता दें कि रक्षा मंत्री का आने वाले हफ्तों में कार्यक्रम काफी व्यस्त होने वाला है। उन्हें सभी डिपार्टमेंट्स और सर्विसेज के लोग मौजूदा मसलों पर प्रेजेंटेशन देंगे। इसके अलावा, महत्त्वपूर्ण नियुक्तियों से लेकर तत्काल खरीद जैसे मसलों और मेक इन इंडिया पर नीतिगत निर्णयों को लेकर भी चर्चा होगी। साउथ ब्लॉक के एक अधिकारी ने बताया कि रक्षा मंत्री के सभी विभागों को टाइम बाउंड डिलीवरी प्लान तैयार करने का निर्देश दिया था, जिसके बाद व्यापक प्रेजेंटेशन देने की योजना बनाई गई है।

You might also like