सूर्यदेव प्रचंड, आसमान से बरस रहे अंगारे

धर्मशाला—जिला भर में बीते सप्ताह आगजनी की घटनाओं से जहां पशुशालाएं राख हो गई। वहीं, सूर्यदेव की प्रचंड गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है। कांगड़ा का तापमान भी 40 डिग्री से ऊपर चल रहा है। रात के समय गर्म हवाएं चलने से लोगों की रातों की नींद भी उड़ गई हैं। इसके अलावा ठाकुरद्वारा में ग्रामीणों ने शराब ठेके का जमकर विरोध किया।  वहीं, पौंग बांध की मछली का स्वाद चखने वालों को अब दो माह तक मछली का स्वाद नहीं मिल पाएगा। पहली जून से मत्स्य आखेट पर प्रतिबंध लग जाएगा जो कि 31 जुलाई तक रहेगा। मत्स्य विभाग द्वारा मत्स्य प्रजनन का सीजन होने के कारण पौंग झील में मत्स्य आखेट को जून-जुलाई दो माह के लिए बंद कर दिया जाता है, ताकि मछली प्रजनन कर सके। उधर, शस्त्र लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए अब कांगड़ा जिला के लोगों को उपमंडल स्तर पर भी सुविधा प्रदान की जाएगी। इतना ही नहीं, फसल सुरक्षा और आत्मरक्षा की भी उपमंडल स्तर पर सभी औपचारिक्ताएं पूरी हो जाएंगी। इसके चलते अब लोगों को जिला मुख्यालय के चक्कर लगाने के लिए मजबूर नहीं होना पड़ेगा। गौरतलब है कि अब तक लोगों को मुख्यालय में ही शस्त्र लाइसेंस रेन्यू करवाने के लिए आना पड़ता था।

जंगलों में आग पर इन नंबरों पर करें शिकायत

दमकल विभाग आपातकालीन-101

दमकल विभाग धर्मशाला -01892-224992

पुलिस -100

आपातकालीन हेल्प लाइन-108

डा. संजीव शर्मा  डीएफओ धर्मशाला-9418026464

डिवीजन आफिस धर्मशाला-01892-224887

तनवी गुप्ता रेंज आफिसर कांगड़ा-98172-06951

देश राज रेंज आफिसर मलां-94180-73399

करतार चंद रेंज आफिसर धर्मशाला-82191-93071

सुरेश चंद रेंज आफिसर शाहपुर-82194-30580

ईश्वर दास रेंज आफिसर लपियाना-94182-24028

शख्सियत…  केएस पटियाल के तराशे खिलाड़ी छाए

भारतीय खेल प्राधिकरण में बतौर कोच सेवाएं दे रहे एथलेटिक्स के कोच केहर सिंह पटियाल ने खेल के क्षेत्र में देश भर में अपनी अलग पहचान बना ली है। कोच केएस पटियाल ने अपनी कोचिंग के दम पर भारत को दो अंतरराष्ट्रीय पदक दिलाए है और 40 से अधिक राष्ट्रीय मेडल हिमाचल की झोली में डाल चुके हैं। कोच केएस पटियाल से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली सीमा ने 2017 में एशियन यूथ एथलेटिक्स चैंपयिनशिप में सीमा ने कांस्य पदक जीत कर देश व प्रदेश का नाम रोशन किया था।

धर्मशाला में अंडरग्राउंड डस्टबिन खस्ताहालत

नगर निगम धर्मशाला के सभी वार्डों में भूमिगत कूडे़दान स्थापित तो किए गए थे, लेकिन अब करीब दो सालों बाद इतनी खैर खबर पूछने वाला कोई नहीं है। नगर निगम धर्मशाला ने जिस दिन भूमिगत कूड़ेदान स्थापित किए थे, तो बड़ी -बड़ी बातों के साथ बेसहारा पशुओं से द्वारा विखेरी जा रही गंदगी से भी निजात दिलाने की बात कही गई थी। लेकिन अब शहर के सभी कूड़ेदानों की हालत दयनीय स्थिति में पहुंच गई है। कूड़ेदानों की रिपेयर पहले पांच सालों तक स्थापित करने वाली कंपनी के जिम्मे थी, लेकिन  लगभग सभी कूड़ेदानों को रिपेयर की जरूरत है, लेकिन इनकी खैर खबर कोई नहीं ले रहा है। नगर निगम की अव्यवस्था के कारण अब यही कूड़ेदान गंदगी फैलने का कारण भी बन रहे हैं।

मकलोडगंज में टै्रफिक प्लान फेल, सैलानी तंग

पर्यटन नगरी मकलोडगंज में जिला प्रशासन व पुलिस द्वारा तैयार किया टै्रफिक प्लान पूरी तरह से फेल रहा है। पर्यटन नगरी में पर्यटक पहुंच रहे है, लेकिन जिला पुलिस के प्रबंध नाकाम सिद्ध हो रहे है। इसके कारण हजारों पर्यटकों को लंबे ट्रैफिक की वजह से परेशान होना पड़ रहा है। इतना ही नहीं, होटलों में भी पार्किंग की व्यवस्था शून्य के बराबर ही है।

जून के पहले सप्ताह में बादलों ने जमाया डेरा

भीष्ण गर्मी के बाद के अब इंद्र देव भी मेहरबान हो गए हैं। धौलाधार की पहाडि़यों सहित मैदानी क्षेत्रों में भी रविवार को दोपहर बाद बारिश हुई, जिससे लोगों को गर्मी से थोड़ी निजात मिली। 

धर्मशाला की दुकानों में सब्जी के मनमाने रेट

जिला मुख्यालय धर्मशाला के मुख्य बाजार में सब्जी विक्रेताओं द्वारा ग्राहकों को लुटने का खुला करोबार चल रहा है। बाजार की दुकानों में ज्यादा ग्राहक होने के  बावजूद भी मनमाने दाम लगाए जा रहे है। इतना ही नहीं सब्जी रेहड़ी व बाजारों की दुकानों से रेट लिस्ट ही गायब रहती है। लेकिन जैसे ही ग्रामीण क्षेत्रों की तरफ रुख करते है, तो दुकानों पर रेट लिस्ट भी होती है और रेट भी सस्ता होता है।

ऑफ सीजन में मछुआरों को तीन हजार भत्ता

प्रदेश के जलाशयों मंे कार्यरत 15 हजार 500 से ज्यादा मछुआरों को क्लोज सीजन के तहत तीन हजार रुपए का भत्ता प्रदान किया जाएगा। क्लोज सीजन के दौरान मछली के अवैध शिकार की रोकथाम के मद्देनजर फ्लाइंग स्क्वायड व अन्य टीमों की तैनाती कर दी गई है।

You might also like