सेवा क्षेत्र एक साल के निचले स्तर पर

मुंबई – लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता के प्रभावी होने के कारण उत्पन्न बाधाओं से मई में देश के सेवा क्षेत्र की गतिविधियां एक साल के निचले स्तर पर आ गईं और इसका निक्केई सूचकांक घटकर 50.2 रह गया। निक्केई द्वारा बुधवार को जारी भारतीय सेवा कारोबार गतिविधि सूचकांक रिपोर्ट में कहा गया है कि सेवा कंपनियों को मिलने वाले नए आर्डरों की वृद्धि दर भी आठ माह के निचले स्तर पर आ गई है। यह लगातार तीसरा  माह है जब सेवा क्षेत्र की गतिविधियां सुस्त पड़ी हैं। फरवरी में सेवा क्षेत्र का सूचकांक 52.5  पर रहा था जो मार्च में घटकर छह माह के निचले स्तर 52 रहा था। अप्रैल में सेवा क्षेत्र का सूचकांक 51 रहा था। नए वित्त वर्ष की शुरुआत सेवा क्षेत्र की धीमी रफ्तार से हुई। सूचकांक का 50 पर होना स्थिरता दर्शाता है। इसका 50 से ऊपर होना वृद्धि का और उससे कम रहना गिरावट का द्योतक है।

You might also like