सैहब कर्मियों के वेतन में 20 फीसदी बढ़ोत्तरी

शिमला—नगर निगम शिमला ने सैहब कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोत्तरी कर दी है। निगम ने सैहब कर्मियों के वेतन में 20 फीसदी की बढ़ोत्तरी का फैसला लिया है। नगर निगम शिमला के सफाई कर्मचारी जो सैहब सोसायटी के तहत सेवाएं दे रहे हैं, वे पिछले कई महीने से वेतन वृद्धि की मांग कर रहे हैं, लेकिन नगर निगम प्रशासन ने आयोग के शिमला पहुंचने से पहले ही सफाई कर्मचारियों का 20 प्रतिशत वेतन वृद्धि कर दी है। बताया जा रहा है कि इन सफाई कर्मचारियों को जून के महीने में बढा हुआ वेतन मिलेगा। बताते चलें कि सैहब सोसायटी कर्मचारी यूनियन ने वेतन बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर बीते 7 जून को निगम प्रशासन को वेतन बढ़ोत्तरी का अल्टीमेटम दिया था। बाद में यूनियन ने निगम को चेतावनी दी थी कि यदि 8-9 जून को सैहब कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोत्तरी पर सहमति नहीं बनती है तो 10 जून को सभी सफाई कर्मचारी सामूहिक इस्तीफा दे देंगे। इससे नगर निगम प्रशासन में हड़कंप मच गया था। बीते शनिवार को भी महापौर की अध्यक्षता में पार्षदों की बैठक हुई थी, जिसमें सैहब कर्मचारियों की मांगों पर विचार विमर्श किया गया। वहीं रविवार को फिर से बैठक का आयोजन किया गया। महापौर की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में उप महापौर, आयुक्त, पार्षदों विभाग अध्यक्षों सहित सैहब सोसायटी कर्मचारी उपस्थित रहे। बैठक में कर्मचारियों की मांगों पर विचार विमर्श किया गया। इस दौरान निर्णय लिया गया कि वर्ष 2017-18 और 2018-19 तक उनके वेतन में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई थी जिसको ध्यान में रखते हुए सैहब कर्मचारियों के वेतन में 20 प्रतिशत बढ़ोत्तरी का फैसला लिया गया।

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग का दौरा

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग अपने चार दिवसीय हिमाचल दौरे पर शिमला पहुंच गया है। आयोग के अध्यक्ष मेहनहार वाल्जीभाई जाला अपनी तीन सदस्यीय टीम के साथ रविवार को शिमला पहुंचे। प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश के नगर निगम और शहरी निकाय में सफाई कर्मचारियों की दिक्कतें सुनने एवं उसका निपटारा करने के लिए यह टीम शिमला पहुंच गई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग सोमवार को नगर निगम शिमला प्रशासन और सफाई कर्मचारियों के साथ अहम बैठक करेगा।

वार्डों से एकत्रित किया जाएगा गारबेज शुल्क

महापौर की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में फैसला लिया गया कि जिन वार्डों से कूड़ा एकत्रित करने के पैसे नहीं लिए जा रहे हैं उन वार्डों से निगम तुरंत कलेक्शन करेगा। कूड़ा उठाने के पैसे जो सैहब सोसायटी के सुपरवाइजर करते थे वहां पर नगर निगम के हाउस टैक्स के साथ नहीं जोड़ा जाएगा। बल्कि इस कलेक्शन को स्वच्छता ऐप के जरिए भी ऑनलाइन जमा करवाया जा सकता है। जो लोग ऑनलाइन जमा नहीं करवा सकते हैं उन्हें सुविधा केंद्र में जमा करवा सकते हैं। बैठक में पार्षदों ने अपनी सहमति जताई कि उनके वार्डों में यह प्रक्रिया शुरू की जाए।

You might also like