सोनिया फिर संसदीय दल की नेता

बैठक में सर्वसम्मति से लिया फैसला, पहले राहुल गांधी के नाम की थीं अटकलें

नई दिल्ली -कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में सोनिया गांधी को फिर से संसदीय दल का नेता चुना गया है। कांग्रेस संसदीय दल का नेता पहले राहुल गांधी को बनाए जाने की अटकलें थीं। लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश के बाद राहुल को संसदीय दल का नेता बनाए जाने की खबरें मीडिया में थी। हालांकि, इन सब अटकलों पर विराम लगाते हुए सोनिया गांधी को ही नेता चुना गया। कांग्रेस संसदीय दल की नेता चुनी जाने के बाद सोनिया गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार जताया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पर विश्वास जताने वाले 12.13 करोड़ मतदाताओं का भी शुक्रिया। राहुल गांधी ने भी बैठक को संबोधित किया। कांग्रेस संसदीय बोर्ड की मीटिंग में लोकसभा में पार्टी की क्या रणनीति होगी, इस पर भी चर्चा की गई। पार्टी के 52 नए सांसदों के साथ यह पहली बैठक है। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद राहुल गांधी पहली बार पार्टी की किसी बैठक में हिस्सा ले रहे हैं।

हम 52… इंच-इंच लड़ेंगे

कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में राहुल गांधी ने नेताओं का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि भले ही हमारी संख्या 52 की है, लेकिन हम सदन में बीजेपी से एक-एक इंच लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि हम 52 सांसदों को मिलकर संघर्ष करना है। भले ही संख्या में हम 52 हों, लेकिन इसी संख्याबल से हम बीजेपी से इंच-इंच की लड़ाई करने में सक्षम हैं।

You might also like