सोलन में अब नहीं होगी पानी की कमी

धारो की धार में दुरुस्त होगा 38 लाख लीटर पेयजल क्षमता का टैंक, लीकेज रोकने को अपनाई जाएगी अमरीकन तकनीक

सोलन –सोलन व आसपास के क्षेत्रों में अब पानी की कमी नहीं होगी। इसके लिए सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा धारो की धार में पानी के टैंक को ठीक करवाया जाएगा। बताया जा रहा है कि 38 लाख लीटर की क्षमता के इस टैंक में लीकेज के चलते उपयोग नहीं किया जा रहा था, लेकिन अब विभाग ने इस टैंक को ठीक करवाने का फैंसला लिया है। इस टैंक की लीकेज को अमरीकन तकनीक से ठीक करवाया जाएगा। बता दंे कि पानी की किल्लत को कम करने के लिए धारो की धार में पानी का टैंक बनाया गया था। टैंक का निर्माण वर्ष 2006 में किया गया था और इसे गिरि पेयजल योजना के साथ जोड़ा गया था। इस टैंक को बनाने का मुख्य उद्देश्य शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में पानी की कमी के दौरान इस टैंक में एकत्र किए पानी का इस्तेमाल करना था, परंतु निर्माण कार्य के दौरान खामियां रह जाने के कारण इसमें लीकेज शुरू हो गई, तब से यह टैंक प्रयोग नहीं आ रहा था पर अब सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग सोलन ने अब इस टैंक को दुरुस्त करवाने का निर्णय लिया है, जिससे पेयजल किल्लत के समय में काफी राहत मिलने की उम्मीद है। गौरतलब हो कि गर्मियां शुरू होते ही सोलन शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में पेयजल किल्लत आने लगती है। इसके चलते लोग परेशान हो जाते हैं। वहीं सर्दियों में लो वोल्टेज व बरसात के दिनों में गाद आने से पर्याप्त पेयजल की लिफ्टिंग नहीं हो पाती है। ऐसे में यदि 38 लाख लीटर क्षमता वाला यह टैंक ठीक हो जाता है, तो जलसंकट की स्थिति में लोगों को काफी राहत मिल पाएगी।

मेंब्रेन तकनीक से ठीक होगा टैंक

सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग सोलन धारो की धार टैंक में लीकेज को बंद करने के लिए मेंब्रेन तकनीक से ठीक करवाएगी। बताया जा रहा है कि यह तकनीक पहली बार प्रयोग में लाई जा रही है। इस टैंक को ठीक करने में करीब 30 लाख रुपए खर्च होंगे। टैंक को ठीक करवाने के लिए सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई है।

धर्मपुर उपमंडल को मिलेगा फायदा

इस टैंक के ठीक होने पर सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग सोलन के उपमंडल धर्मपुर को भी फायदा पहुंचेगा। बता दें कि धर्मपुर उपमंडल के कई स्कीमों में जलस्तर घट जाने के बाद परेशानी होती है लेकिन टैंक के सही होने पर लोगों को पेयजल किल्लत का सामना नहीं करना पड़ेगा।

 

You might also like