स्कूली बच्चों को वाटर बॉटल जल्द

खाद्य आपूर्ति विभाग खोलेगा टेंडर, तीस हजार को फायदा

शिमला – प्रदेश के स्कूली बच्चों को वन लेयर की वाटर बॉटल मिलने वाली है। खाद्य आपूर्ति विभाग द्वारा टेंडर आमंत्रित कर दिए गए हैं, जिसे जल्द ही खोला जाने वाला है। जानकारी के मुताबिक पहले चरण में 30 हजार बच्चों को यह वाटर बॉटल मुहैया करवाई जाएगी। इससे पूर्व लोकसभा चुनावों के चलते आचार संहिता लगने के कारण ये टेंडर नहीं हो पाए थे। कारण यह था कि वाटर बॉटल का सैंपल फेल हो गया था, लेकिन अब खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा तेजी लाई जा रही है। बताया जा रहा है कि पहले टू लेयर की वाटर बॉटल दी जानी थी, लेकिन बजट की स्थिति को देखते हुए वन लेयर वाटर बॉटल ही स्कूली बच्चों को दी जाएगी। अभी पहली से 12वीं कक्षा तक के छात्रों को पहले चरण में नहीं मिलेगी। अभी एक कक्षा (नौवीं) का चयन इसके लिए किया गया है, जिसे यह वाटर बॉटल दी जाएगी। सूचना है कि स्कूल बैग फ्री देने पेर भी विचार किया जा रहा है, लेकिन प्रदेश सरकार की घोषणा के मुताबिक पानी की बोटलों को ही दिया जाने वाला है। हालांकि इस योजना को जल्द शुरू करने पर स्वास्थ्य विभाग भी दिशा-निर्देश जारी करने वाला है। बरसात के मौसम के मद्देनजर बच्चों को पानी उबाल कर लाने की हिदायतें जारी की जाएंगी। ऐसा इसलिए भी है कि स्कूल हैल्थ प्रोग्राम में यह सामने आया है कि प्रदेश के स्कूली बच्चों में जलजनित रोगों के मामले गर्मियों के मौसम में भी बढ़ते देखे गए हैं। इसमें खास तौर पर डायरिया के मामले सामने आए हैं। लिहाजा प्रदेश सरकार यह चाहती है कि बच्चों को जो पानी की बोतल निःशुल्क दी जा रही है, उसमें बच्चे अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए घरों से पानी को उबालकर लाएं। हालांकि इस योजना में दो ही कक्षाओं को ही शामिल किया गया है, लेकिन बाद में 12वीं कक्षा तक के छात्रों को इस योजना का विस्तार किया जा सकता है।

You might also like