स्कूलों का लर्निंग लेवल डगमगाया

मंडी—मंडी जिला के करसोग व सुंदरनगर क्षेत्र के कुछ स्कूलों में भारी अनियमितता पाई गई है। इसमें दुर्गम क्षेत्र के कुछ स्कूलों में शिक्षक ड्यूटी के दौरान गायब पाए गए हैं। तो किसी स्कूल में बच्चों का लर्निंग लेवल काफी खराब पाया गया है। यह खुलासा शिक्षा विभाग की इंस्पेक्शन कैडर टीम द्वारा तीन दिन के औचक निरीक्षण के दौरान हुआ है। इसमें टीम ने मंडी जिला के सुंदरनगर व करसोग क्षेत्र के करीब 24 स्कूलों में औचक निरीक्षण किया। इसमें प्राइमरी, मिडल, उच्च व वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाएं शामिल हैं। टीम ने शिक्षा व्यवस्था के अलावा स्कूल रिकार्ड भी चैक किया है। इनमें कुछ स्कूलों  की हालत ठीक नहीं पाई गई है। वहीं जिन स्कूलों ने बेहतर कार्य  किए हैं, उन स्कूलों की टीम ने सराहना की है। टीम ने पाया एक प्राइमरी स्कूल में जेबीटी शिक्षक व जलवाहक गैर हाजिर पाए गए हैं। उक्त कर्मचारियों का स्कूल में कोई भी छुट्टी के लिए प्रार्थना पत्र नहीं पाया गया है, जबकि कुछ स्कूलों में बच्चों का लर्निंग लेवल काफी खराब पाया गया है। कुछ स्कूलों में शिक्षक कक्षा में मोबाइल व हेल्पबुक प्रयोग करते पाए गए हैं, जबकि कुछ स्कूलों में शिक्षकों ने टीचर डायरी सही से तैयार नहीं की है।  वहीं एक-दो स्कूलों में सफाई व्यवस्था भी रामभरोसे पाई गई है।

इन स्कूलों का किया औचक निरीक्षण-

शिक्षा विभाग की इंस्पेक्शन कैडर टीम ने राजकीय माध्यमिक पाठशाला व प्राइमरी स्कूल बडैहण, राजकीय प्राइमरी व उच्च पाठशाला कटाची, राजकीय प्राइमरी स्कूल गरहाच, राजकीय हाई व प्राइमरी स्कूल बांदली, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घैण, रावमापा व राजकीय केंद्रीय प्राइमरी स्कूल शाकरा, रावमापा व प्राइमरी स्कूल बैहली, राजकीय मिडल व प्राइमरी स्कूल बिंदला, रावमापा तत्तापानी, राजकीय उच्च व प्राइमरी स्कूल साहाज, रावमापा व प्राइमरी स्कूल  जस्साल, रावमापा अलसिंंडी और रावमापा बगसार सहित अन्य स्कूलों में औचक निरीक्षण किया।

You might also like