हमीरपुर में खुली कनिका नर्सिंग अकादमी

हमीरपुर—प्रदेश की पहली कनिका नर्सिंग अकादमी हमीरपुर में खुल गई। शुक्रवार को ठाकुर कांप्लेक्स, नजदीक डीसी आफिस के पास इसका विधिवत रूप से शुभारंभ हुआ। शुभारंभ अवसर के मुख्यातिथि स्थानीय विधायक रहे। उन्होंने रिबन काटकर अकादमी संचालन की पहली रस्म अदा की। कनिका नर्सिंग की प्रदेश में यह पहली ब्रांच है। इसकी दो ब्रांचेज चंडीगढ़ मंे संचालित हैं। चंडीगढ़ में बेहतर रिजल्ट के बाद अब हमीरपुर में इसकी शाखा खोली गई है। इस अवसर पर चंडीगढ़ कनिका नर्सिंग प्रबंधन भी मौजूद रहा। प्रबंधकों ने बताया कि कनिका नर्सिंग अकादमी की पहली शाखा चंडीगढ़ में वर्ष 2016 में खोली गई थी। तीन सालों में मिली आपार सफलता के बाद हमीरपुर मंे शाखा खोलने का निर्णय लिया गया। यह अकादमी नर्सिंग में भविष्य बनाने के इच्छुकों के लिए वरदान साबित होगी। कनिका नर्सिंग अकादमी की ब्रांच हैड डा. मोनिका शर्मा ने बताया कि अकादमी सरकारी अस्पतालों में नौकरी पाने में मदद करेगी। तीन तरह के इसमें कोर्स करवाए जाएंगे। इसमें पहला है, जो जमा दो उत्तीर्ण करने के बाद नर्सिंग में आना चाहते हैं, उनको संस्थान में पूरी तरह प्रशिक्षित किया जाएगा। निजी नर्सिंग संस्थानों में सालाना फीस लाखों रुपए है, जबकि सरकारी अस्पतालों में मात्र कुछ हजार रुपए में ही नर्सिंग हो जाएगी। यही कारण है कि संस्थान सरकारी अस्पतालों में जाने के लिए ट्रेनिंग देगा। नर्सिंग का एंट्रेस टेस्ट पास करने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। डा. मोनिका शर्मा ने कहा कि यह अकादमी उन बच्चों के लिए बनाई गई है, जो भारी भरकम फीस अदा नहीं कर सकते। दूसरा जिन्होंने कोर्स कर लिया है, चाहे जीएनएम हो या बीएससी नर्सिंग, अगर वह सरकारी नौकरी में जाना चाहते हैं तो उनको ट्रेनिंग दी जाएगी। तीसरा जिन बच्चों ने बीएससी की है तथा हायर क्वालिफिकेशन नर्सिंग में ही लेना चाहते हैं, उन्हें भी संस्थान प्रशिक्षण प्रदान करेगा। इसके साथ ही राज्य से बाहर नर्सिंग में भविष्य तलाशने वालों को भी विशेष प्रशिक्षण की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने कहा कि फिलहाल लक्ष्य हिमाचल के बच्चों को इंडिया के सरकारी अस्पतालों में नौकरी के काबिल बनाना है। इसके लिए अकादमी वचनबद्ध है। भविष्य में भी बेहतर परिणाम के साथ कनिका नर्सिंग का नाम चमकेगा।

You might also like