हादसों पर जांच की परत

जोगिंद्र ठाकुर, भल्याणी, कुल्लू

बढ़ते सड़क हादसे हिमाचल के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं। आखिर कब तक निर्दोष लोगों की बलि दी जाती रहेगी? बंजार में हुए बस हादसे के कारण तो जांच रिपोर्ट से सामने आएंगे, लेकिन दोषियों को सख्त सजा देकर पीडि़तों के जख्मों पर मरहम लगाने का काम हो सकता है। प्रदेश में जहां सड़कों का जाल तेजी से बिछाया जा रहा है, वहीं वाहनों की संख्या बढ़ी है और सड़क हादसे भी। इसलिए वाहन चालकों को लाइसेंस देने, सड़क सुरक्षा नियमों को सख्ती से लागू करने के लिए कार्य योजना बनाई जानी चाहिए। सार्वजनिक परिवहन तथा सड़कों में उच्च तकनीक के साथ अधिक निवेश पर बल देना चाहिए।

 

You might also like