हिमाचल को 11 साल बाद पदक

तीन खिलाडि़यों ने जूनियर नेशनल कराटे में पाया रुतबा

शिमला  —हिमाचल प्रदेश के कराटे खिलाडि़यों ने कराटे खेल में 11 साल बाद पदक जीत कर लंबा सूखा तोड़ा है। पहाड़ी प्रदेश के खिलाडि़यों ने ये पदक जूनियर नेशनल स्पर्धा में जीते हैं। पदक जीतने वाले तीनों खिलाड़ी शिमला से ताल्लुक रखने वाले हैं। प्रदेश से इससे पूर्व कराटे चैंपियनशिप के नेशनल वर्ग में खिलाडि़यों ने पदक जीत कर हिमाचल को गौरवान्वित किया था। इसके पश्चात हिमाचल से कोई भी खिलाड़ी नेशनल स्तर पर पदक नहीं जीत पाए थे। आसाम में खेली गई नेशनल स्पर्धा में हिमाचल प्रदेश का प्रतिनिधितत्व कर तमन्ना ठाकुर, नियति और दिव्या बाली ने प्रदेश के लिए पदक जीते हैं। राज्य के तीनों खिलाडि़यों ने कांस्य पदक जीते हैं। तीनों खिलाड़ी शिमला के राज्य खेल परिसर में अभ्यासरत है। राज्य को यह सम्मान मिलने से जहां हिमाचल पदक तालिका में ऊपर आया है। वहीं इससे हिमाचली खिलाडि़यों का मनोबल भी बढ़ा है। दूसरी ओर बैजनाथ में खेली गई राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में शिमला के जूनियर खिलाडि़यों ने 10 स्वर्ण पदक जीते हैं। पदक जीतने वाले खिलाडि़यों में ईशा ठाकुर, कृतिका, दिव्यांशी, स्वास्थिका, कार्तिक, विदांतू, आरुषि, दक्ष नेगी, माईत पाठक और भंडारी शामिल हैं। इन सभी खिलाडि़यों ने स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया है। इन सभी खिलाडि़यों का चयन नेशनल स्पर्धा के लिए किया गया है, जो दिल्ली में खेली जाएगी।

खिलाडि़यों को सम्मान

जूनियर नेशनल प्रतियोगिता में पदक जीतने वाले तीनों खिलाडि़यों को प्रदेश कराटे एसोसिएशन द्वारा सम्मानित किया गया है। एसोसिएशन ने इन खिलाडि़यों को सम्मान के साथ नकद पुरस्कार राशि भी प्रदान की है।

You might also like