हॉस्पिटल में  किस काम का ऐसा एक्स-रे प्लांट

नेरवा—कइर् सालों से की जा रही मांग के बाद नेरवा वासियों को सिविल अस्पताल नेरवा में एक्सरे प्लांट रूपी नेमत तो मिल गई है परन्तु स्थान और रेडियो ग्राफ के अभाव में इस के अस्पताल में स्थापित होने पर प्रश्न चिन्ह लग गया है। ऐसी भी चर्चा है कि यदि इस एक्सरे प्लांट को समय पर अस्पताल में स्थापित नहीं किया जा सका तो इसे किसी अन्य अस्पताल में शिफ्ट कर दिया जाएगा जिस वजह से लोगों के चेहरे पर खुशी झलकने से पहले ही मायूसी छा गई है।  गौरतलब है कि नेरवा अस्पताल में एक्सरे सुविधा न होने के मामले को दिव्य हिमाचल द्वारा पिछले कई सालों से लगातार उठाया जाता रहा है। लोगों की इस मांग पर ग्राम पंचायत नेरवा की 22 पंचायतों के लोगों की मांग उस समय पूरी होती नजर आई जब नेरवा अस्पताल में 300 एमएम का एक आधुनिक डिजिटल एक्सरे प्लांट पंहुच गया है। परन्तु एईआरबी के मानकों के तहत इसे शायद अभी कुछ दिनों तक अस्पताल में स्थापित करना मुमकिन नहीं है। अस्पताल में जगह की कमी के कारण इस अभी पैक अवस्था में अस्पताल की लॉबी में ही रखा गया है। आईआरबी मानकों के अनुसार इस एक्स-रे प्लांट को स्थापित करने के लिए 12 गुणा 12 फुट का कमरा होना आवश्यक है। इस कमरे में एलईडी, शील्ड और टीएलडी बेचिज के अलावा इसे ऑपरेट करने वाले कर्मचारी और जिसका एक्सरे होना है उनकी एक्सरे के समय निकलने वाली घातक रेडिएशन तरंगों से आँख, गला, छाती आदि की सुरक्षा हेतु एलईडी प्रोटेक्टेड शील्ड, एप्रिन व कैप आदि का होना भी आवशयक होता है। बहरहाल यदि अस्पताल में एक्सरे प्लांट स्थापित हो जाता है तो अन्य आवश्यकताएं तो शायद पूरी हो जाएं या फिर आवश्यक सामान प्लांट के साथ ही आ गया हो परन्तु सबसे बड़ी बात यह है कि नेरवा अस्पताल में इस एक्सरे प्लांट को रखने के लिए 12 गुणा 12 फुट के कमरे का ना होना इसे स्थापित करने में सबसे बड़ी बाधा बना हुआ है। इसके अलावा इस एक्सरे प्लांट को संचालित करने के लिए  अस्पताल में रेडियो ग्राफर अथवा रेडिओलॉजिस्ट के पद भी सृजित नहीं है। स्थानीय लोगों ने नेरवा के लिए आधुनिक डिजिटल एक्सरे प्लांट मुहैया करवाने के लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर, स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार और स्थानीय विधायक बलवीर सिंह वर्मा का आभार व्यक्त किया है एवं मांग की है कि अस्पताल में इसे स्थापित करने की शीघ्र व्यवस्था की जाए तथा अस्पताल में रेडियो ग्राफर एवं राडोयोलॉजिस्ट के पद सृजित कर इन पदों पर तैनाती की जाए ताकि नेरवा की 22 पंचायतों के लोगों को नेरवा में एक्स-रे की सुविधा मिलनी शुरू हो सके।

You might also like