1998 की याद दिला गया अनुराग आगमन

गांधी चौक पर बिछा रेड कारपेट, केंद्रीय राज्य मंत्री पर फूलों की बारिश

हमीरपुर  —अनुराग ठाकुर की बतौर केंद्रीय राज्यमंत्री के रूप में ताजपोशी के बाद फिर से पावर सेंटर बने हमीरपुर का शुक्रवार रात जो नजारा दिखा, वह यहां की जनता को 21 साल पहले ले गया। जी हां, हमीरपुर की जनता को एक बार फिर से मार्च 1998 का वो दिन याद आया जब प्रो. प्रेम कुमार धूमल पहली बार मुख्यमंत्री बनने के बाद हमीरपुर पहुंचे थे और भाजपा का यह गढ़ पहली बार सत्ता का केंद्र बना था। अनुराग ठाकुर के हमीरपुर में इस्तकबाल को लेकर जो जश्न का माहौल बना, वह लंबे समय तक यहां की जनता को याद रहेगा। रात करीब आठ बजे जैसे ही अनुराग ठाकुर हमीरपुर के गांधी चौक पर पहुंचे तो सैकड़ों की तादाद में मौजूद भाजपा कार्यकर्ता और यहां की जनता खुशी से झूम उठी। आसमान पर होती आतिशबाजी और फूटते पटाखे लोगों की खुशी को बयां कर रहे थे। ढोल-नगाड़ों की थाप के बीच अनुराग ठाकुर को गांधी चौक तक लाया गया। उनके लिए रेड कारपेट बिछाया गया था। लोगों की मानें तो ऐसा ही रेड कारपेट उस वक्त भी इसी जगह पर बिछा था, जब धूमल पहली बार मुख्यमंत्री बनकर यहां पहुंचे थे। रेड कारपेट पर अनुराग ज्यों-ज्यों आगे बढ़ते जा रहे थे, तो गांधी चौक के आसपास के भवनों पर फूल लिए बैठे भाजपा कार्यकर्ता उन पर फूलों की बारिश करते हुए नजर आए। इस मौके पर उनके साथ जिला के प्रभारी प्रवीण शर्मा, विधायक सदर के विधायक नरेंद्र ठाकुर, भोरंज की विधायक कमलेश कुमारी,विजय अग्निहोत्री, नरेंद्र अत्री, एपीएमसी के चेयरमैन अजय शर्मा, सहित दर्जनों की तादाद में भाजपा के पदाधिकारी मौजूद रहे।

सुबह से ही शुरू हो गई थीं स्वागत की तैयारियां

सुबह से ही अनुराग ठाकुर के स्वागत की तैयारियां हमीरपुर जिला मुख्यालय में शुरू हो गई थीं। पूरे बाजार को लाइट्स से सजाया गया था। हर जगह अनुराग के बड़े-बड़े पोस्टर लगाए गए थे।

 

You might also like