22 तक पगार नहीं तो 24 से  प्रदर्शन

नगरोटा बगवां —जिला परिषद के अंतर्गत काम कर रहे पंचायत सचिवों तथा तकनीकी सहायकों ने पिछले दो माह से वेतन न मिलने पर सरकार के प्रति कड़ा रुख अपनाने का निर्णय लिया है । मंगलवार को नगरोटा बगवां खंड अधिकारी को एक ज्ञापन सौंपते हुए संयुक्त पंचायत सचिव एवं तकनीकी सहायक संघ के पदाधिकारियों ने दो टूक शब्दों में कह दिया है कि यदि 22 जून तक विभाग ने उनके बाकाया वेतन का भुगतान नहीं किया, तो 24 जून से समस्त कर्मचारी आंदोलन के रास्ते पर निकल पड़ेंगे, जिसकी सारी जिम्मेदारी विभाग की होगी। संघ नेताओं का कहना है कि उन्हें बार बार कहने के बाद भी आज तक अप्रैल तथा मई के दो महीनों के बकाया वेतन का भुगतान नहीं हो पाया, जिसके चलते उन्हें गृहस्थी चलाना भी मुश्किल हो गई है । उनका कहना है कि विभाग इसी सप्ताह  उनका बाकाया वेतन जारी करें, अन्यथा उन्हें मजबूरन आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ेगा।जानकारी यह भी है कि उक्त कर्मचारियों का वेतन  ट्रेजरी में  विभाग की अधूरी अधिसूचनाओं के कारण रुका पड़ा पड़ा है। विभाग यह स्पष्ट नहीं कर पाया है कि वेतन सीधा कर्मचारियों के खातों में डाला जाए या विभाग के माध्यम से वितरण हो। संघ ने शिमला स्थित पंचायती राज विभाग के निदेशक,  उपायुक्त कांगड़ा, जिला पंचायत अधिकारी, उपमंडलीय अधिकारी तथा थाना प्रभारी नगरोटा बगवां को भी इस बारे अवगत करवा दिया है। इस संदर्भ में खंड विकास अधिकारी केसी ठाकुर ने बताया कि इस बाबत उन्होंने विभाग के शीर्ष अधिकारियों को अवगत करवा  दिया है तथा विभागीय निर्देशों का इंतजार है ।

You might also like