25 जून से आज भी डरता है पालमपुर

पालमपुर—पालमपुरवासियों के जहन में 25 जून, 2014 का मंजर आज भी ताजा है। 25 जून को पालमपुर के करीब धौलाघार की पहाडि़यों पर बादल फटा था।े पांच साल पूर्व थातरी नाम की जगह में बादल फटने से न्यूगल खड्ड का बहाव बढ़ गया था हालांकि समय रहते प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों से कोई नुकसान नहीं हुआ था। हालांकि उसके बाद 2018 के सितंबर माह में न्यूगल खड्ड में बढ़े पानी के बहाव ने प्रमुख पर्यटक स्थल सौरभ वन विहार को तहस-नहस करके रख दिया था। पहले भी पालमपुर आ चुके सैलानियों को सौरभ वन विहार पहुंच कर निराशा हाथ लग रही है। बीते वर्ष न्यूगल में बाहर से आने वाले सैलानियों के लिए पालमपुर का मौसम काफी राहत प्रदान कर रहा है, लेकिन सौरभ वन विहार की हालत देख वह निराश हो रहे हैं। यह सैलानी फिर साथ लगती खड्ड में ही कुछ देर बहते पानी का आनंद ले रहे हैं। इस बार पालमपुर का पारा इस समय भी 30 डिग्री को पार कर रहा है। सामान्य से उपर चल रहे तापमान के बीच बारिश की छिटपुट बूंदों से उमस के चलते लोग परेशान हो रहे हैं। बीते सप्ताह पालमपुर में सामान्य 62 मिमी के मुकाबले मात्र 5.4 बारिश दर्ज की गई और इस वर्ष पहली बार बारिश का ग्राफ सामान्य से कम पर पहुंच गया है। ड्राई स्पेल भी लंबा खिंचता जा रहा है और औसत 576 मिमी की तुलना में अब तक 573.8 मिमी बारिश हुई है। 22 से 24 जून तक पालमपुर का अधिकतम तापमान 30 डिग्री के पार दर्ज किया गया है। साल के 25वें सप्ताह में पालमपुर का अधिकतम तापमान 27.5 से 33.5 डिग्री के बीच रहा जो कि सामान्य से 1.7 से 4.7 डिग्री  अधिक है। वहीं, न्यूनतम तापमान 16.5 से 21.5 डिग्री के बीच दर्ज किया गया जो कि औसत से 0.4 से 3.7 डिग्री कम रहा।

You might also like