350 किमी दूरी तय कर सोलन पहुंचे सुनील

सोलन — पांच अनमोल जीवन को बचाने के लिए दौड़ रहे सिरमौर जिला के सुनील शुक्रवार को सोलन पहुंचे। सोलन के शामती पहुंचने पर सोलनवासियों सहित सिरमौर कल्याण मंच सोलन द्वारा उनका भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान सिरमौरी चीते के स्वागत के लिए शामती में सैकड़ों लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। सिरमौर कल्याण मंच की ओर से सुनील के सौजन्य से पीडि़त परिवारों की सहायता के लिए 11 हजार रुपए का चेक प्रदान किया गया। गौर रहे कि शुक्रवार को सुनील ने हरिपुरधार जिला सिरमौर से अपनी यह यात्रा शुरू की। इस मौके पर उनका जगह-जगह लोगों ने शानदार तरीके से स्वागत किया और दिल खोलकर दान भी किया। सुनील के चाहवानों  ने भी उनके साथ सेल्फी लेने में भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। इस मौके पर धावक सुनील ने कहा कि उन्होंने ग्रेट सिरमौर रन के नाम से यह यात्रा प्रसिद्ध माता बाला संुदरी मंदिर त्रिलोकपुर से आरंभ की। जो पांवटा साहिब, शिलाई, सतौन, हरिपुरधार और राजगढ़ होकर सोलन पहुंची है। इसके बाद यह सराहां होकर नौ जून को सिरमौर जिला मुख्यालय नाहन में संपन्न होगी। उन्होंने कहा कि समापन अवसर पर एक चैरिटेबल सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा। सुनील ने कहा ग्रेट सिरमौर रन के तहत वह अब तक 350 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय कर चुके हैं। सोलन पहुंचे धावक सुनील ने आम लोगों से अपील की कि इस अभियान में अधिक से अधिक संख्या में जुड़े ताकि उनका यह मकसद सफल हो सके और अनमोल जिंदगियों को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य है कि ग्रेट सिरमौर रन के तहत वह कम से कम 20 से 30 लाख रुपए इक्कठा कर पीडि़त परिवार की सहायता करेंगे। इस अवसर पर सुनील ने कहा कि जैसा प्यार उन्हें सोलन में मिल रहा है, इसको देखकर भूल गए हैं कि वह साढ़े तीन सौ से अधिक की दूरी तय भी कर चुके हैं। उल्लेखनीय है कि सुनील कुमार अंधेरी सिरमौर की 9वीं कक्षा की छात्रा, मंडी जिला की 29 साल की एक महिला, जिसकी दोनों किडनियां फेल है, सतौन सिरमौर के बुजुर्ग जिनका कोई नहीं है तथा शिलाई के दो दिव्यांग भाई जिनके हाथ-पांव नहीं है वह इनकी सहायता के लिए दौड़ रहे है। कहा कि उन्होंने यह रन अंधेरी की 14 वर्षीय बच्ची के लिए आरंभ की थी। अब इसमें और जरूरतमंद जुड़ गए हैं।

You might also like