40 डिग्री… बिझड़ी बाजार में फंसे तो गर्मी से उबले

सड़क किनारे पार्क गाडि़यों के चलते लग रहा जाम, लोगों का बुरा हाल

बिझड़ी—सड़क के किनारे खड़े वाहनों के कारण लगभग हर दिन आम लोगों व वाहन चालकों को कई घंटे जाम में बिताने पड़ रहे हैं। स्कूल बसें व एंबुलेंस भी अकसर जाम में फंसी हुई देखी जा सकती हैं, लेकिन लगता है प्रशासन आंखें मूंद कर बैठा हुआ है। मामला बिझड़ी बाजार का है जहां जाम की समस्या लगातार विकराल रूप धारण करती जा रही है। पुलिस विभाग की लगातार अपील  व सख्ती के बावजूद वाहन चालक अपनी मनमर्जी पर उतारू हैं। सड़क के किनारे जहां भी जगह मिले, वहीं पर गाड़ी पार्क कर दी जाती है। नतीजा पहले से ही तंग बाजार में  कुछ ही मिनटों में जाम लग जाता है। उपमंडल बड़सर का मुख्य कस्बा व दियोटसिद्ध को जाने वाली एकमात्र सड़क  होने के कारण दिनभर इस बाजार से सैकड़ों गाडि़यां गुजरती हैं, लेकिन जाम के कारण श्रद्धालुओं, वाहन चालकों व राहगीरों को काफी परेशानियां उठानी पड़ती हैं। जाम लगने का कारण सड़क का संकरा होना व कहीं भी पार्किंग की व्यवस्था का न होना है। इस समस्या को सड़क के किनारे खड़े दोपहिया  वाहन व गाडि़यां और भी गंभीर बना देते हैं। बताते चलें कि जाम का यह सिलसिला सुबह लगभग  आठ बजे से शुरू होकर शाम सात बजे तक रुक-रुक कर चलता रहता है। इससे वाहन चालकों को जाम से निकलने के लिए अच्छी खासी माथापच्ची करनी पड़ती है। स्कूल बसें तो अकसर इस जाम में फंसकर लेट हो जाती हैं। भयंकर गर्मी व उमस भरे मौसम के बीच जहां पारा 40 डिग्री के पार चल रहा हो और लोगों को घंटों जाम में बिताने पड़ रहे हों तो प्रशासन की व्यवस्था भली-भांति समझी जा सकती है। व्यापार मंडल बिझड़ी प्रधान बब्बी शर्मा, विनोद ठाकुर, रजनीश कानगो, सतीश कुमार, विजय धीमान, दर्शन, सतीश ठाकुर, रमन बन्याल व अन्य दुकानदारों का कहना है कि प्रशासन को बाजार में पार्किंग के लिए उपयुक्त जगह का चयन करना चाहिए तथा सड़क किनारे अवैध रूप से खड़े किए गए वाहनों पर पुलिस विभाग सख्ती दिखाएं, तभी आम लोगों को राहत मिल सकती है।

You might also like