45 लाख से संवरेंगी बिलासपुर की सड़कें

बिलासपुर -लोक निर्माण विभाग बिलासपुर ने जिला में पहली बार सेंसर पेवर तकनीक से ग्रामीण सड़कों की टायरिंग आरंभ कर दी है। इसका सर्वप्रथम लाभ जिला के बम्म-जाहू व कोट-दशमल सड़क मार्ग को मिला है। सेंसर पेवर के माध्यम से इन दोनों सड़कों की टायरिंग कर चकाचक किया जाएगा। अब तक इस तकनीक का इस्तेमाल केवल नेशनल हाई-वे पर ही किया जाता रहा है, लेकिन पिछले कुछ समय से सरकार ने सड़कों की दशा सुधारने केे लिए लेबर के जरिए टायरिंग बिछाने के कार्य को बंद कर दिया है। अब ग्रामीण सड़कों पर भी सरकार ने सेंसर पेवर का इस्तेमाल करने के फरमान जारी किए हैं। इसी कड़ी के तहत जिला में पहली बार बम्म-जाहू व कोट-दशमल रोड़ पर इस तकनीक का प्रयोग कर इन सड़कों को चकाचक किया जा रहा है। इससे जहां राइडिंग क्वालिटी अच्छी होगी वहीं, सड़कें लंबे समय तक टिकी रहेंगी। लोक निमार्ण विभाग उपमंडल भराड़ी के सहायक अभियंता ई. शशिकांत शर्मा ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि इन दोनों सड़कों पर करीब 45 लाख व्यय कर इन्हें पेवर तकनीक के जरिए बेहतर बनाने पर कार्य किया जाएगा। इसके अलावा सड़कों पर पैचवर्क का कार्य भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नई तकनीक के जरिए बम्म-जाहू सड़क पर एक किलोमीटर टायरिंग का कार्य पूरा हो चुका है, जबिक कोट कोट-दशमल रोड़ पर तीन किलोमीटर एरिया पर पेवर टायरिंग का कार्य आरंभ होने जा रहा है।

You might also like