आचार्य देवव्रत गुजरात में भी नशे के खिलाफ छेड़ेंगे जंग

शिमला –राज्यपाल आचार्य देवव्रत गुजरात में भी नशे के खिलाफ अभियान छेड़ेंगे। बुधवार को राजभवन में पत्रकार वार्ता में आचार्य देवव्रत ने कहा कि हिमाचल में रह कर उन्होेंने नेश के खिलाफ लड़ाई लड़ी, लेकिन अफसोस इस बात का है कि यह लड़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ी। उन्होंने प्रदेश सरकार और यहां की जनता से अपील की है कि युवाओं को नशे से बचाने के लिए लड़ाई जारी रखें। आचार्य देवव्रत ने कहा कि वह गुजरात में भी नशे के खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे। इसके साथ-साथ वहां प्राकृतिक खेती को भी बढ़ावा देंगे। राज्यपाल ने हिमाचल में अपने कार्यकाल के लिए प्रदेश के सभी लोगों का धन्यवाद किया।  प्रधानमंत्री व केंद्रीय नेतृत्व ने उन पर विश्वास जाहिर कर, जो गुजरात का कार्यभार सौंपा है, उसके लिए धन्यवाद। हिमाचल में प्राकृतिक खेती, पर्यावरण बचाव, स्वच्छता अभियान, नशामुक्ति अभियान, देशी गाय का संबर्धन और बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ मिशन को आगे बढ़ाया। इन्ही कार्यों को गुजरात मे भी आगे बढ़ाया जाएगा। प्रदेश में प्राकृतिक खेती का जो कार्य शुरू किया है। उससे दस हजार किसान जुड़े हैं। वर्ष 2022 तक हिमाचल में सभी किसान इससे जुड़ें, इस पर कार्य किया जा रहा है। वह स्वयं बीच बीच में हिमाचल आकर प्राकृतिक खेती का जायजा लेते रहेंगे। वह आगामी 22 जुलाई को गुजरात का कार्यभार संभालेंगे। उधर, प्रदेश सरकार ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत के सम्मान में पीटरहॉफ में राजकीय रात्रिभोज का आयोजन किया, जिसमें मुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष सहित मंत्रिमंडल के सदस्य शामिल हुए। राज्य सरकार द्वारा इस आयोजन के लिए धन्यवाद करते हुए राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि उन्हें राज्य के हर वर्ग के लोगों से स्नेह और सहयोग प्राप्त हुआ तथा राज्य सरकार व विपक्ष से भी पूरा सहयोग मिला है। गत चार वर्षों के दौरान उन्होंने विभिन्न सामाजिक कृत्यों जैसे स्वच्छ भारतए बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ, जल संरक्षण जैसे अभियानों के माध्यम से देवभूमि के पर्याय को और अधिक सार्थक बनाने का प्रयास किया।  उनका मुख्य लक्ष्य प्रदेश के किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रेरित करना रहा, क्योंकि किसानों की आय को दोगुना करने और रासायनिक उर्वरकों के अत्याधिक प्रयोग से उत्पन्न हो रही अनेक बीमारियों से बचाव का यह एकमात्र साधन है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व वाली सरकार ने अभियान की सफलता के लिए उन्हें हरसंभव सहायता प्रदान की।

आचार्य ने बनाया विशेष स्थान

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने रात्रि भोज कार्यक्रम के दौरान उपस्थित प्रबुद्ध व्यक्तियों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने प्रदेश के लोगों के दिलों में एक विशेष स्थान बनाया है। राज्य व देश में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने में उनके द्वारा किया गया कार्य सराहनीय और प्रेरणादायक है।

You might also like