इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश के पोते की सगाई आज

यमुनानगर के पूर्व विधायक दिलबाग की बेटी जैसमीन कौर बनेगी चौटाला परिवार की बहू

पंचकूला – तीन पीढि़यों से इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) से जुड़े परिवार के पूर्व विधायक दिलबाग सिंह अब इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला के छोटे बेटे बेटे अभय चौटाला के समधी बनेंगे। यमुनानगर के पूर्व विधायक दिलबाग की बेटी और अभय के बेटे दोनों जल्द शादी के बंधन में बंधेंगे। टीके-सगाई का प्रोग्राम 18 जुलाई का तय हो चुका है।  कार्यक्रम सिरसा में चौटाला परिवार के तेजाखेड़ा फार्महाउस में होगा। अभय के बेटे अर्जुन चौटाला अभी ग्रेजुएशन कर रहे हैं, लेकिन वे सक्रिय राजनीति में कदम रख चुके हैं। उन्होंने कुरुक्षेत्र से लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव लड़ा था। वहीं, दिलबाग सिंह की बेटी जैसमीन कौर मुलाना से एमबीबीएस कर रही हैं। जानकारी के अनुसार यह डिग्री इसी साल दिसंबर या अगले साल जनवरी में पूरी हो जाएगी। दोनों परिवार वर्षों से एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। दिलबाग के दादा पहलवान ठाकुर सिंह के पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल के साथ अच्छे संबंध थे। वे उनके साथ पार्टी से जुड़े। जबकि दिलबाग के पिता बिशा सिंह ने पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला के साथ राजनीति की। दिलबाग सिंह तीसरी पीढ़ी के नेता हैं और 2009 से 2014 तक इनेलो के टिकट पर यमुनानगर से विधायक भी रहे हैं। उनका भी राजनीति में काफी कद माना जाता है और वे भी राजनीति में काफी सक्रिय रहते हैं। लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में जीत नहीं पाए। बता दें कि दिलबाग सिंह बिजनेसमैन हैं। उनकी कई इंडस्ट्री है। माइनिंग व ट्रांसपोर्ट का भी काम है। जानकारी के अनुसार इस सगाई में कई जानी-मानी हस्तियों समेत कई राजनीति के दिग्गजों के आने की उम्मीद है।

कार्यक्रम केलिए ली सात दिन की रिहाई

बता दें कि इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला अपने पोते अुर्जन की सगाई में शामिल होंगे। उन्हें दिल्ली हाई कोर्ट से सात दिन की पैरोल मिल गई है। चौटाला ने चार सप्ताह की पैरोल के लिए याचिका दायर की थी। इस पर हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार से रिपोर्ट मांगी थी। मंगलवार को सरकार की ओर से रिपोर्ट पेश किए जाने के बाद सात दिन की पैरोल दी गई है। अभय ने पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल को भी मुलाकात कर निमंत्रण दिया है। इस कार्यक्रम में करीब 150 से 200 लोग शामिल हो सकते हैं। दिलबाग ने बताया कि चौटाला परिवार से उनके परिवार का पुराना नाता है। दादा जी से लेकर अब परिवार इनेलो से जुड़ा है। अभय ने बेटे के लिए बेटी के रिश्ते की बात रखी। मैंने स्वीकार कर लिया।

You might also like