एक साथ तीन बेटियों का जन्म

ऊना —कुटलैहड़ हलके के बरेड़ा गांव की परमजीत कौर भी बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ मुहिम की एक मिसाल बनी हैए जिन्होंने एक साथ तीन बेटियों को जन्म दिया है एपरमजीत कौर बरेड़ा गांव की निवासी हैं और पति करनैल  सेना में है।जच्चा व बच्चा स्वस्थ है। सोमवार सुबह 4ः30 बजे के करीब हरजिंद्र हस्पताल ऊना में एमर्जेंसी के दौरान परमजीत कौर को लेकर परिजन पहुंचे हैं डिलीवरी के लिए परमजीत कौर को पीजीआई के लिए रेफर किया गया था, लेकिन परिजन उसे लेकर हरजिंद्र अस्पताल आएं। परमजीत कौर की डिलीवरी के समय से कुछ पहले हो रही थी और ऐसे में रिस्क फैक्टर भी था। परमजीत कौर की हालत को देखकर डाक्टर हरजिंद्र ने इस केस को लिया और तुरंत आपरेशन थिएटर में सब तैयारियां की गई कुछ समय की जद्दोजहद के बाद डाक्टर हरजिंद्र व उनकी टीम ने परिवार को खुशखबरी दी कि एक नहीं बल्कि तीन खुशियां परिवार के घर पर आई हैं। तीन बेटियों का जन्म एक साथ हुआ है और जच्चा व बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। डा. हरजिंद्र व उनकी टीम ने जच्चा व बच्चा का पूरा मॉनिटरिंग कर ख्याल रखा और बच्चों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। तीनों बच्चियां स्वस्थ हैं।  माता पिता भी खुश हैए परिजन भी बेटियों के जन्म पर खुश हैं । वहीं, हरजिंद्र अस्पताल के स्त्री रोग विशेषज्ञ चिकित्सक डाक्टर हरजिंद्र व अस्पताल के प्रबंधक मोनिका सिंह ने बताया कि परमजीत कौर के तीन बेटियां होने के उपलक्ष में सेव गर्ल चाइल्ड अभियान को आगे बढ़ाने के लिए 16 जुलाई को पौधारोपण कार्यक्रम हरजिंद्र अस्पताल के परिसर में किया जाएगा और इन बेटियों के जन्म को यादगारी बनाए रखने के लिए बेटियों के जन्म को समर्पित पौधे रोपे जाएंगे।

You might also like