कंपनी प्रबंधन के खिलाफ उतरे कर्मचारी

सोलन—सोलन के साथ लगते चंबाघाट में स्थित हिमाचल फ्यूचरिस्टिक कम्युनिकेशंस लिमिटेड कंपनी में कर्मचारी यूनियन के तीन कर्मचारियों को बर्खास्त करने और कंपनी प्रबंधक द्वारा श्रमिकों की मांगे न पूरी होने पर सड़कों पर उतर गए। इस दौरान कर्मचारियों के कंपनी के खिलाफ नारेबाजी की। बताया जा रहा है कि कर्मचारी यूनियन द्वारा कर्मचारियों से संबंधित मांगों को लेकर कंपनी प्रबंधक को मांग पत्र सौंपा गया था। लेकिन कंपनी प्रबंधक ने कर्मचारियों की मांग को दरकिनार कर दिया और कर्मचारी यूनियन के प्रधान, सचिव, संयुक्त सचिव को निलंबित कर दिया और अन्य कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसको लेकर कर्मचारियों जा गुस्सा फूट गया और सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने लगे। सोमवार को सड़को पर नारे बाजी करने के बाद उपायुक्त सोलन के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा है। इस दौरान कर्मचारियों ने कहा कि कंपनी में अधिकतर श्रमिकों का सेवाकाल 25 वर्ष से 31 वर्ष के बीच हैऔर आयु 45 वर्ष से 55 वर्ष के बीच है । सभी श्रमिक मूल हिमाचली हैं जो कि हिमाचल प्रदेश के अन्य हिमाचलियों की तरह ही मेहनती और शांतिप्रिय हैं। इस कंपनी को ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए सभी श्रमिकों ने रात दिन परिश्रम किया है जिसका परिणाम वर्तमान में कंपनी प्रबंधक के पास श्रमिकों के मांग पत्र हैं जिन पर प्रबंधक की ओर से गंभीरता से कोई विचार नहीं किया जा रहा है । कारखाना में वर्तमान कारखाना प्रबंधक श्रमिकों को वर्षों से लागू सुविधाओं को समाप्त कर रहे हैं। श्रमिकों ने यूनियन के माध्यम से पहले तो प्रबंधक पक्ष को मौखिक व लिखित में सुविधाओं को जारी रखने के लिए कहा और लिखा । कोई कार्रवाई नहीं किए जाने पर समरण पत्र भी लिखा गया। कंपनी प्रबंधक श्रमिकों को अन्य पत्र अंग्रेजी भाषा में लिखकर भेज रहे हैं। श्रमिकों को समझ न आने पर हिंदी भाषा में पत्र भेजने के लिए श्रमिकों द्वारा आग्रह किया गया तो उन्हें निलंबित कर दिया गया है ।

You might also like