कर्नाटक की घटनाओं को लेकर लोकसभा में कांग्रेस की नारेबाजी

कर्नाटक विधानसभा की घटनाओं को लेकर कांग्रेस एवं उसके सहयोगी दलों ने लोकसभा में शुक्रवार को हंगामा किया और आसन के सम्मुख आकर नारेबाजी की। पूर्वाह्न 11 बजे जैसे ही सदन समवेत हुआ और अध्यक्ष बिरला ने प्रश्नकाल शुरू करने की घोषणा की, कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के सदस्य अपने स्थानों पर खड़े हो गये और प्रश्नकाल स्थगित करके भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर कर्नाटक में कांग्रेस जनता दल एस सरकार को गिराने की साजिश को लेकर बात रखने की मांग करने लगे। विपक्षी सदस्य हाथों में पोस्टर लिये थे जिनमें अंग्रेजी में ‘सेव डेमोक्रेसी’ यानी लोकतंत्र बचाओ लिखा हुआ था। 
बार बार आग्रह के बावजूद अध्यक्ष ने प्रश्नकाल जारी रखा तो कांग्रेस के सदस्य सदन के बीचोंबीच आसन के सम्मुख आ गये और ‘सेव डेमोक्रेसी’, ‘वी वांट जस्टिस’ और ‘तानाशाही नहीं चलेगी’ के नारे लगाने लगे। इस पर अध्यक्ष ने कहा कि सभी सदस्यों ने नियमानुसार तय किया था कि राज्य, राज्य की विधानसभाओं और राज्य के संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों के विषय संसद में नहीं उठाये जाएंगे। शून्यकाल में भी विपक्ष को दो बार इस विषय पर बात करने की अनुमति दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि शून्यकाल होने दें, वह सदस्यों से इस बारे में बात करेंगे।लेकिन विपक्ष के सदस्य नारेबाजी करते रहे। इस बीच प्रश्नकाल चलता रहा। करीब आधे घंटे बाद अध्यक्ष ने विपक्षी सदस्यों से अपील की कि वे अपनी सीटों पर लौट जायें। वह शून्यकाल में आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाने के बाद कांग्रेस के नेता अधीररंजन चौधरी को विपक्ष की बात रखने का मौका देंगे। इसके बाद विपक्षी सदस्य अपनी सीटों पर लौट गये। 

 

You might also like