किन्नौर में हैवी ब्लास्ट बने जान के दुश्मन

रिकांगपिओ —किन्नौर कांग्रेस प्रवक्ता डा. सूर्य बोरिस ने प्रेस वार्ता के दौरान किन्नौर प्रशासन सहित सीमा सड़क संगठन व सड़क मार्ग को चौड़ा कर रही निजी कंपनी सिंगला द्वारा अवैज्ञानिक तरीके से कार्य करने का आरोप लगाया है।    उन्होंने कहा कि सड़क मार्ग को चौड़ा करने के नाम पर राष्ट्रीय उच्च मार्ग-पांच का काशंग नाला के समीप बार-बार अवरुद्ध होने से लोगों का इस मार्ग पर सफर करना जान जोखिम भरा है। उन्होंने कहा कि जिला किन्नौर के ऊपरी क्षेत्र व स्पीति क्षेत्रों के लोगों की आवाजाही इसी मार्ग से होती है, लेकिन कई बार द्वारा शक्तिशाली विस्फोट करने से यह मार्ग दो-तीन दिन तक बहाल नहीं हो पता। ऐसे में यात्रियों व पर्यटकों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि इन दिनों पांगी नाला से काशंग पुल तक एनएच का यह हाल है कि यदि कोई घर से बाहर रिकांगपिओ-शिमला के लिए निकलता है, तो व अपने गंत्तव्य स्थान तक नहीं पहुंच जाता तब तक  परिजनों में डर बना रहता है कि कई अनहोनी न हो। इस वर्ष इसी अवरुद्ध मार्ग पर चट्टान गिरने से दो पर्यटकों की जान जा चुकी है, जबकि इस से पूर्व दो स्थानीय लोग भी हादसे का शिकार हुए थे। बोरिस ने कहा कि मार्ग के अवैज्ञानिक तरीके से हैवी ब्लास्टिंग से अवरुद्ध होने पर पर्यटन व्यवसाय पर भी प्रतिकूल असर पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि स्पिति एजिला के ऊपरी क्षेत्रों का नकदी फसल मटर सीजन चला है, मगर मार्ग अवरुद्ध होने से किसानों को भी आर्थिक नुकसानी हो रही है। बोरिस ने कहा कि प्रशासन पर ग्रेफ व ठेकेदार पर कोई नियंत्रण नहीं है। अगर यही हाल रहा तो किन्नौर कांग्रेस जनहित में सड़कों पर उतरने को विवश होना पड़ेगा।

You might also like