कुल्लू में बारिश से मौसम कूल-कूल

कुल्लू—जिला कुल्लू में दोपहर बाद झमाझम बारिश हुई। बारिश होने से ब्यास-पार्वती के साथ-साथ अन्य सहायक नदी-नालों का जलस्तर बढ़ गया है। झमाझम हुई बारिश से जिला मुख्यालय के लोगों ने भी बरसात का एहसास किया। हालांकि अभी तक मुख्य सड़क मार्ग तो वाहनों की आवाजाही के लिए ठीक है, लेकिन जिला की ग्रामीण क्षेत्रों की कच्ची सड़कें कीचड़ में तबदील हो गई हैं। जिससे वाहन चलाने जोखिम भरे हो गए हैं। अचानक दोपहर बाद बरसे मेघ से स्कूल-कालेज के छात्र-छात्राएं भी भीगते हुए घर पहुंचे। बारिश होने से कुल्लू जिले का मौसम कूल-कूल हो गया है। हालांकि मणिकर्ण घाटी के खीरगंगा, मानतलाई, तोष, तुलगा-पुलगा के साथ-साथ अन्य मनाली की ऊंचे क्षेत्रों ने पिछले दिनों से बारिश हो रही है।  लेकिन जिला मुख्यालय सहित भुंतर, नगवाईं में नाममात्र की बारिश हो रही थी। लेकिन सोमवार को अचानक दोपहर बाद खराब हुए मौसम के बाद  झमाझम बारिश का दौर शुरू हुआ। समूचे कुल्लू में बारिश होने से ब्यास और पार्वती नदी उफान पर है। ऐसे में अब नदी-नालों की तरफ जाना जोखिम भरा है। वहीं,  जिला प्रशासन ने भी खराब मौसम को देखते हुए जिलावासियों के साथ-साथ बाहरी राज्यों से आने वाले पर्यटकों से अपील की है कि वह नदी-नालों की तरफ न बढ़ें। बारिश होने से किसान-बागबानों ने भी राहत की सांस ली है। बता दें कि जहां बागबानों को बारिश न होने से सेब का आकार न बढ़ने की चिंता पड़ी थी। लेकिन अब अगर धीमी रफ्तार में बारिश होगी तो सेब के आकार में बढ़ोतरी होगी।

You might also like