कैदियों में खूनी झड़प, दो घायल

गुरदासपुर की केंद्रीय जेल की बैरक में बिस्तर लगाने को लेकर भिड़े

गुरदासपुर –गुरदासपुर की केंद्रीय जेल में सोमवार को कैदियों के बीच खूनी झड़प देखने को मिली। जानकारी के मुताबिक गुरदासपुर की केंद्रीय जेल की बैरक में बंद सात कैदियों में बिस्तर लगाने को लेकर खूनी झड़प हो गई। इस झड़प में दो कैदी गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दोनों के हाथों पर गंभीर चोटें लगीं हुई हैं। उधर, जेल प्रशासन ने जेल के अंदर उत्पात मचाने और अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए इन सभी के खिलाफ थाना सिटी में मामला दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक केंद्रीय जेल में बैरक नंबर-2 और बैरक नंबर-6 के कैदी भिड़ गए। हालांकि झगड़ा बैरक नंबर-2 के कैदियों का ही था, लेकिन इसमें बैरक नंबर-6 के कैदी भी कूद पड़े। अस्पताल में भर्ती सन्नी मसीह पुत्र ताजा मसीह निवासी गोहत पोकर और अवतार सिंह पुत्र सेवा सिंह निवासी जोगी चीमा ने बताया कि सुबह करीब 11 बजे वे लोग खाना खाने के बाद अपनी बैरक नंबर 2 में गए। जब वे लोग वहां पर अपना बिस्तर लगाने लगे, तो उसी बैरक में बंद कैदी परजीत सिंह पुत्र निशान सिंह निवासी धवान थाना किला लाल सिंह ने हमसे बहस करनी शुरू कर दी, जो कि धीरे-धीरे तकरार में बदल गई। परजीत सिंह की हमसे पहले भी झड़प हो चुकी है, जिसके चलते उसने पूरी तैयारी की हुई थी। परजीत सिंह ने अपने साथियों हवालाती हरजंट सिंह उर्फ डीसी पुत्र स्वर्ण सिंह निवासी बिजलीवाल थाना किला लाल सिंह और गुरप्रीत सिंह पुत्र कश्मीर सिंह निवासी कोटली सूरत मल्ली के साथ मिलकर चम्मचों से हम पर वार करने शुरू कर दिए। हम लोगों को बचाने के लिए आगे आए भारत गिल उर्फ शिवा पुत्र विजय गिल निवासी गीता भवन रोड गुरदासपुर, संदीप उर्फ प्रिंस पुत्र परमजीत सिंह निवासी सैदोवाल खुर्द, राकेश मसीह पुत्र ताजा मसीह निवासी गोहत पोकर, धर्मिंदर सिंह पुत्र जसवंत सिंह निवासी भट्टियां थाना पुराना शाला, लक्की मसीह पुत्र ताजा मसीह निवासी गोहत पोरक, तथा अवतार सिंह पुत्र सेवा सिंह निवासी जोगी चीमा थाना काहनूवान पर भी उन्होंने हमला किया। इस वारदात में उसके और अवतार के हाथों पर गंभीर चोट लगी है। झगड़े के बाद जेल प्रशासन ने झगड़ा करने वाले आरोपियों को अलग अलग बैरकों में बंद कर दिया। केंद्रीय जेल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट सतनाम सिंह ने बताया कि जेल में कैदियों व हवालातियों का झगड़ा हुआ है। दो हवालातियों को चोट आई है, जिसके चलते उन्हें सिविल अस्पताल भेज दिया गया है। झगड़े को लेकर कार्रवाई के लिए थाना सिटी को लिखित तौर पर भेज दिया गया है।

अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं

जेल के डिप्टी अधीक्षक सतनाम सिंह का कहना है कि जेल के अंदर किसी भी प्रकार की अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि झगड़ा करने वाले सभी कैदियों पर काबू पा लिया गया था। भविष्य में ऐसी घटना न घटित हो, इसके चलते इनमें से कुछ लोगों को अन्य जेल में शिफ्ट किया जाएगा।

You might also like