कैबिनेट फाइनल करेगी मानसून सत्र

इन्वेस्टर्स मीट की इवेंट कंपनी पर लगेगी मुहर, उद्योग-आयुर्वेद पॉलिसी आने की संभावना

 शिमला —जयराम मंत्रिमंडल की मंगलवार को प्रस्तावित बैठक में विधानसभा के मॉनसून सत्र पर मुहर लगेगी। इसके अलावा कई महत्त्वपूर्ण मामलों पर फैसले संभावित हैं। धर्मशाला में नवंबर में संभावित इन्वेस्टर्स मीट की इवेंट कंपनी पर कैबिनेट फैसला लेगी। मंत्रिमंडल में फाइनल होने वाली कंपनी धर्मशाला में इन्वेस्टर्स मीट में निवेश नगर स्थापित करेगी। इसके लिए जर्मन से हाईटेक्नीक के चार हैंगर (डोम) लाए जाने प्रस्तावित हैं। अहम है कि जयराम का मंत्रिमंडल विधानसभा का मॉनसून सत्र फाइनल करेगा। इसके लिए तारीख के निर्धारण का मामला कैबिनेट में लाया जाएगा। अगले महीने  विधानसभा का मॉनसून सत्र होना है और इस बार के सत्र में ज्यादा बैठकें होंगी। मंत्रिमंडल तय करेगा कि यह सत्र कब से कब तक चलेगा। बजट सत्र छोटा होने के चलते मॉनसून सत्र में 13 से 15 बैठकें हो सकती हैं। उधर, कैबिनेट की बैठक में इस बार आईटी पॉलिसी और आयुर्वेद पॉलिसी के भी आने की संभावना है। इन दोनों विभागों ने यहां निवेशकों को रिझाने के लिए अलग-अलग पॉलिसी बनाई है, जिसके तहत यहां निवेशकों को रियायतें दी जानी हैं। अब आयुर्वेद व आईटी पर भी पॉलिसी कैबिनेट के सामने आएगी, जिस पर चर्चा के बाद इसे मंजूरी मिलेगी। कैबिनेट की बैठक में ऊर्जा विभाग से जुड़े एक-दो मामले भी लाए जा रहे हैं, जिसमें निजी कंपनियों को प्रोजेक्ट्स को एक्सटेंशन देने व इनके विस्तार की योजनाएं हैं। विभागों में अलग-अलग श्रेणियों के पदों के सृजन व नई भर्तियों के मामले भी इस बैठक में लाए जा रहे हैं।

यमुना के पानी के रेट पर भी होगा फैसला

यमुना से दिल्ली को दिए जाने वाले पानी के रेट को निर्धारण करने का मामला भी इस बैठक में आ सकता है। एक प्रस्ताव बनाया गया है, जिस पर चर्चा होनी है। इस बैठक में इन्वेस्टर्स मीट के आयोजन को लेकर भी मामला लाया जा रहा है। धर्मशाला में सात व आठ नवंबर को यह आयोजन होगा, जिसे करवाने के लिए इवेंट पार्टनर कंपनी का चयन किया जाना है। उद्योग विभाग ने कंपनी चुन ली है, परंतु इसे कैबिनेट से मंजूरी दी जानी है। इससे पहले भी दो अलग-अलग आयोजनों के लिए कैबिनेट से पार्टनर बनाने को मंजूरियां मिल चुकी हैं, जिसके बाद सरकार ने विदेशों में जाकर भी रोड शो किए।

You might also like