कौशल्या डैम के पानी को अभी देर

रिटेनिंग वॉल नहीं बनने के कारण पंचकूला को झेलनी पड़ेगी दिक्कत

पंचकूला – हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण और एनएचएआई की गलती के कारण पंचकूला के लोगों को इस साल कौशल्या डैम का पानी नहीं मिल पाएगा। नौ महीनों में 250 मीटर के हिस्से में रिटेनिंग वॉल नहीं बन सकी और उस पर पाइप लाइन को जोड़ा नहीं जा सका। अब प्लानिंग को ही बदल दिया गया है। तय किया गया है कि अमरावती के सामने अगले दो महीनों में फ्लाईओवर का काम शुरू किया जाएगा। सर्विस लेन के साथ-साथ पाइप लाइन को डाला जाएगा। इसमें छह से सात महीने का टाइम लगेगा। इस वजह से पंचकूला के लोगों को साल 2019 में कौशल्या डैम का पानी नहीं मिल पाएगा।  पंचकूला को हर साल बारिश के बाद सितंबर से पानी मिलना शुरू हो जाता है, क्योंकि सितंबर में पानी साफ  हो जाता है। इसके बाद ये सप्लाई मई-जून तक चलती है। बारिश के सीजन के दौरान ही इस सप्लाई को बंद किया जाता है। ऐसे में शहर इस बार भी जल संकट में घिरा रहा। कई सेक्टरों में लो प्रेशर की परेशानी बनी रही। इस बार घग्गर पार के सेक्टरों में पानी की सप्लाई के लिए तीन क्यूसिक पानी को दिया जाना था, लेकिन वहां भी टेस्टिंग नहीं हो पाई है। पिछले साल भारी बारिश के कारण कौशल्या डैम में वॉटर लेवल बढ़ गया था। इस कारण यहां से डैम के गेट को खोल पानी को निकाला गया था। सूरजपुर के साथ ही हाई-वे की एक लेन बैठने की कगार पर पहुंच गई थी। रामपुर कालोनी के मकान भी इसमें बह गए। सड़क की मिट्टी पानी के बहाव में बही है। इसके साथ ही पानी सप्लाई की लाइन टूट गई थी। हाई-वे के साथ डाली गई ये लाइन हवा में झूल रही है। इसे कोई सपोट नहीं मिल रही है।

You might also like