घुमारवीं की 10 पेयजल स्कीमें ठप, हाहाकार मचा

घुमारवीं—बिलासपुर जिला में बारिश व भू-स्खलन ने तबाही मचाई है। बारिश से जहां आईपीएच विभाग की पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई हैं, वहीं लोक निर्माण विभाग की सड़कें भी काफी क्षतिग्रस्त हुई हैं। औहर-कोहिना सड़क मार्ग अभी तक बंद है। इससे लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। बारिश व भू-स्खलन से जिला बिलासपुर में 58.80 लाख रुपए का नुकसान आंका गया है। बारिश से सबसे ज्यादा आईपीएच विभाग को 31.10 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। भू-स्खलन व भारी बारिश के कारण विभिन्न सड़कों के क्षतिग्रस्त होने के कारण लोक निर्माण विभाग के डिवीजन नंबर-एक में 13.90 लाख रुपए तथा डिवीजन नंबर-दो में 13.80 लाख रुपए का नुकसान आंका गया है, जबकि लोक निर्माण विभाग घुमारवीं के तहत औहर कोहिना सड़क मार्ग भजवाणी के समीप पुलिया क्षतिग्रस्त होने के कारण सड़क मार्ग अभी तक बंद है। इससे यहां पर वाहनों की आवाजाही थमी हुई है। इसके अलावा बारिश से खड्डों पर बनी पेयजल योजनाएं प्रभावित हो गई है। अकेले घुमारवीं आईपीएच डिवीजन की दस पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई हैं। सीर खड्ड में सिल्ट अधिक होने के कारण पेयजल योजनाओं का पानी नहीं उठाया जा रहा है,  जिससे घुमारवीं के ही करीब सात से आठ हजार उपभोक्ताओं को पानी की दिक्कत उठानी पड़ रही है। पीने के पानी के लिए उपभोक्ताओं को वैकल्पिक व्यवस्था करनी पड़ रही है। सीर खड्ड में मटमैला पानी में सिल्ट अधिक होने के कारण उपभोक्ताओं को अधिक दिक्कतें उठानी पड़ सकती हंै। इससे लोगों के जनजीवन पर भी विपरीत असर पड़ा है। जानकारी के मुताबिक बिलासपुर जिला में बीते शुक्रवार को बारिश  होने के कारण खड्डों में उफान आ गया है। सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। इससे लोगों को परेशानियां झेलनी पड़ रही हैं। 

घुमारवीं की दस पेयजल योजनाएं प्रभावित             

बारिश के कारण सीर खड्ड में आई सिल्ट के कारण पानी नहीं उठाया जा रहा है। इससे घुमारवीं की लगभग दस पेयजल योजनाएं प्रभावित हुई हंै, जिनमें सेऊ-नसवाल-बद्धाघाट, गाहर व दधोल सहित अन्य योजनाएं शामिल हैं। इनसे करीब सात से आठ हजार उपभोक्ता प्रभावित हुए हैं। उपभोक्ताओं को पानी न मिलने के कारण दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, खड्ड का पानी साफ न होने तक उपभोक्ताओं को वैकल्पिक स्तर पर ही समस्या का समाधान करना पड़ेगा।

You might also like