जंगली जानवर से सहमा परिवार

पंचकूला -पूरी रात एक परिवार तेंदुए की दहशत के साये में रहा और जब सवेरे जांच में वन विभाग को वह जानवर जंगली बिल्ली जैसा लगा, तब परिवार को चैन आया। सेक्टर-नौ के एक परिवार का यह वाकया है जिन्हें कुछ अजीब सी आवाजों से लगा कि घर की बैकसाइड पर शेर का बच्चा घुस आया है, उन्होंने वन विभाग को फोन घुमा कर कहा कि आप लोग जल्दी से टीम को भेजो, हमें बहुत डर लग रहा है। यह शब्द सेक्टर-9 के मकान नंबर 595 में रहने वाले परिवार के थे, जिन्होंने वन विभाग एवं नगर निगम की टीम को फोन किया। जानवर की आवाजें सुनकर परिवार घर के अंदर दुबका रहा। जब टीम उनके घर पर पहुंची, तो परिवार ने हिम्मत की और घर की बैकसाइड गए। दरअसल सेक्टर-नौ के मकान नंबर 595 में रहने वाले परिवार में उस समय हडकंप मच गया था, जब उनके घर की बैकसाइड पर रात भर एक जंगली जानवर आवाजें निकालता रहा। काफी देर तक वह घर की बैकसाइड के जाल में फंसा रहा। घर पर महिला और उनका पालतु कुत्ता ही था। महिला ने मायके वालों को दी सूचना महिला के पिता राजकुमार ने बताया कि हमें देखने से लग रहा था कि यह जंगली जानवर शेर का छोटा बच्चा था। यह पूरी रात मकान के छत में लगे जाल में फंसा रहा। सुबह उठकर जब परिवार ने पिछला दरवाजा खोला तो यह जाल से निकलकर घर के छज्जे पर आ चुका था। इसके बाद मकान में रहने वाले राजकुमार की बेटी ने मायके वालों को फोन किया। राजकुमार ने दोस्त सेक्टर-10 हाउस ऑनर वेलफेयर एसोसिएशन के चेयरमैन भारत हितैषी को सूचित किया। हितैषी ने नगर निगम के प्रशासक राजेश जोगपाल एवं वन विभाग के अधिकारियों को सूचित किया, जिसके बाद मौके पर टीम पहुंची। टीम ने इसे को पकड़ने की कोशिश की, परंतु जंगली जानवर किसी के हाथ नहीं आया और वह बचकर भाग गया। टीम ने काफी देर तक उसे आसपास के एरिया एवं मकानों में ढूंढा, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। परिवार में खौफ  बना हुआ है कि कहीं यह दोबारा वापस न आ जाए। वन विभाग के अनुसार देखने से यह जंगली बिल्ला लग रहा है। शेर इस एरिया में नहीं है, तेंदुए जरूर हैं।

You might also like