जब तक सारा कश्मीर हमारा नहीं…किसी को उधार भी नहीं

हमीरपुर पुलिस लाइन में कैंटीन चला रहे देशप्रेमी अनुज ने चलाया अनोखा अभियान, चार साल से बिन पैसे नहीं दिया सामान

हमीरपुर —आपने ट्रकों और गाडि़यों के पीछे लिखे स्लोगन पढ़े होंगे, जो कई बार काफी रोचक, तो कई बार काफी तथ्यपूर्ण भी होते हैं। ऐसे स्लोगन और विचारों की भरमार सोशल मीडिया पर भी सुबह-शाम रहती है। पुलिस लाइन हमीरपुर की कैंटीन में लिखा गया स्लोगन भी अकसर हर किसी को हैरत में डाल देता है। यहां कैंटीन चला रहे युवक अनुज ने कैंटीन के बाहर लिखा है कि जब तक पीओके (पाक ऑक्यूपाइड कश्मीर) मुद्दा हल नहीं हो जाता, पुलिस लाइन हमीरपुर की कैंटीन में उधार नहीं मिलेगा। बताते हैं कि इस युवक ने चार साल से अपनी कैंटीन में किसी को उधार नहीं दिया। बता दें कि अनुज का सपना भी सेना में जाने का था। उसने इसके लिए काफी प्रयास भी किए, लेकिन जब सफलता नहीं मिली, तो उसने पुलिस लाइन में ही कैंटीन खोल ली। आखिरकार कैंटीन चलाने वाले युवक ने पीओके मुद्दे का स्लोगन क्यों लगाया। इस बात का किसी के पास जवाब नहीं है। अनुज की मानें, तो वह चाहता है कि पाक अधिकृत कश्मीर का मुद्दा केंद्र जल्द हल करवाए। हमीरपुर का अनुज पिछले चार साल से पुलिस लाइन में कैंटीन चला रहा है। पूछे जाने पर उसने बताया कि वह आर्मी में जाने का सपना मन में संजोए हुए था। आर्मी में भर्ती होकर देशसेवा करना चाहता था, लेकिन वह अपने प्रयासों में कामयाब नहीं हो सका। मन में देशसेवा का भाव आज भी है। उसने बताया कि उसका छोटा भाई सेना में सेवाएं दे रहा है। अनुज ने बताया कि देशसेवा के लिए समर्पित रहने की मंशा से कश्मीर मुद्दे का स्लोगन कैंटीन की दीवार पर लिखा गया है। पिछले चार सालों से किसी को उधार नहीं दिया।

You might also like