टावर चार… नेटवर्क एक का भी नहीं

 स्वारघाट—वर्तमान में जहां हर देश हर काम ऑनलाइन करने की होड़ में लगा हुआ है और इसमें भारत भी पीछे नहीं है। मगर भारत के कुछ ऐसे गांव हैं, जहां तमाम असुविधाएं आज भी अपना मुंह फैलाएं खड़ी हैं। आज देश के लाखों लोग 4जी व 5जी इंटरनेट उपयोग कर रहे हैं। वहीं, हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर में एक ऐसा भी गांव है, जहां पर विभिन्न प्राइवेट कंपनियों के टावर होते हुए भी किसी भी कंपनी का मोबाइल नेटवर्क नहीं है। जिला बिलासपुर के उपमंडल स्वारघाट से करीब पांच किलोमीटर दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत री के गांव छांब-भुजाण हरिजन बस्ती के लोगों के मोबाइल बिना नेटवर्क के बेकार पड़े हैं। गांव के लोगों ने लगभग हर कंपनी के सिम ले रखे है, ताकि वह इंटरनेट के माध्यम से देश-दुनिया से जुड़ सकें, लेकिन नेटवर्क न होने के चलते सब बेकार पड़े हैं। नई पीढ़ी के लोग चाहते हुए भी व्हाट्स ऐप, फेसबुक व इंस्टाग्राम  का प्रयोग नहीं कर पाते। गांव के लोगों को सबसे बड़ी दिक्कत रसोई गैस की बुकिंग के समय आती है, क्योंकि  अब रसोई गैस की बुकिंग के लिए फोन का ही उपयोग होता है। वहीं, एमर्जेंसी में अगर किसी ग्रामीण ने स्वास्थ्य सुविधा लेनी हो तो 108 नंबर पर भी नेटवर्क न होने के चलते  बात नहीं हो पाती। वहीं, ग्रामीणों के लिए प्रशासन और प्रदेश सरकार के अनेक टोल फ्र ी नंबरों और शक्ति बटन व होशियार हेल्पलाइन सब बेकार है। वहीं, ग्राम पंचायत री के पुलाचड़ स्थित कार्यालय में भी नेटवर्क और इंटरनेट की दिक्कत हमेशा रहती है। कबीर सभा समिति छांब भुजाण के प्रधान सूरज कुमार, उपप्रधान नील कुमार, सचिव राम चंद, सुरेंद्रा कुमारी, नीता कुमारी, मीना कुमारी, ममता देवी, वचित्र सिंह, हैप्पी कुमार, जयपाल, महेंद्र सिंह व तिलक राम आदि ने बताया कि उनके गांव में जियो, आईडिया, एयरटेल व वोडाफोन आदि कंपनियों के मोबाइल टावर लगे हुए हैं, लेकिन गांव में इनमें से किसी भी कंपनी का मोबाइल नेटवर्क नहीं है। उन्होंने बताया कि इस संदर्भ में ग्रामीणों ने कई बार उक्त निजी कंपनियों के कार्यालयों में लिखित व मौखिक दोनों रूप से शिकायत की, तो वहीं जिलाधीश बिलासपुर व एसडीएम स्वारघाट को भी इस समस्या बारे लिखा गया था, लेकिन आज दिन तक ग्रामीणों की समस्या का हल नहीं हो पाया है। उपरोक्त लोगों का कहना है कि पहले तो गांव में वोडाफोन कंपनी का 2जी मोबाइल नेटवर्क आता था, लेकिन पिछले कुछ समय से किसी भी कंपनी का नेटवर्क नहीं आ रहा है। मेक इन इंडिया के तहत पूरे देश में धूम मचा रही जियो कंपनी की 4जी का सिम तो यहां पर लगभग सभी लोगों के पास है, लेकिन  नेटवर्क न होने की वजह से बेकार पड़े हुए हैं। उपरोक्त लोगों ने प्रदेश सरकार से गुहार लगाई है कि उनकी समस्या का हल शीघ्र किया जाए, ताकि वे भी देश-दुनिया से जुड़ सकें।

You might also like