ठठल में लहलहा रही बेमौसमी चने की फसल

अंब—विकास खंड अंब के तहत ठठल गांव के एक किसान ने बेमौसमी चने की फसल की पैदावार कर एक नया कीर्तिमान अर्जित किया है। यह किसान इससे पहले (12 ) महीने के विभिन्न प्रजाति के आम की फसल तैयार करने का करिश्मा अपने नाम कर चुका है। पूर्व प्रधान व किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर सीता राम ने कहा कि उसने फरवरी महीना के अंत मे अपने खेत में चने की फसल की बिजाई करने का रिस्क लिया, लेकिन करीब तीन महीनों में चने की फसल तैयार होने से उसकी मेहनत सिरे चढ़ गई है। उन्होंने बताया कि उसने अपने स्तर पर चने का बीच तैयार कर खेत को इसके लिए उपजाऊ करने के बाद चने की फसल को बीजा था। जोकि काफी कामयाब रहा है। उन्होंने कहा कि इसके लिए अन्य किसानों को भी प्रेरित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि लोग खेतों में लगन से काम को अंजाम दे तो अपनी अच्छी आमदन प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य में इस चने की फसल को लार्ज स्केल पर खेतों में उगाया जाएगा। इस संबंध में एग्रीकल्चर विभाग अंब के अधिकारी प्यारो देवी से बात कि गई तो उन्होंने बताया कि वैसे तो चने की फसल अक्तूबर, नवंबर में बीजी जाती है, लेकिन उन्हें पता चला है की ठठल के एक किसान ने फरवरी मार्च में चने की फसल की बिजाई कर इसे तीन महीनों में तैयार किया है। उन्होंने कहा कि चने की फसल को देखने के लिए स्पॉट विजिट की जाएगी। उन्होंने किसान की  इस कार्य के लिए प्रशंसा की है।aa

You might also like