डिपुओं से फिर गायब हुईं दालें

हमीरपुर—हमेशा से उपभोक्ताओं को परेशान करने वाले खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने इस बार आम जनता के रसोईघर का बजट बिगाड़ दिया है। राशनकार्ड धारकों को जुलाई माह में डिपुओं में कोई भी दाल नहीं मिल पाई हंै और आगे भी इसकी उम्मीद नजर नहीं आ रही है। यही नहीं राशनकार्ड धारकों के आटा व चावल में भी आधा-आधा किलो की कटौती की गई है। डिपुओं में आधा-अधूरा राशन मिलने से उपभोक्ता भी खासे परेशान हैं। उन्हें एक बार फिर बाजार से महंगे दामों पर राशन खरीदना होगा। बता दें कि हमीरपुर के 1.36 लाख राशनकार्ड धारकों को जुलाई माह में कोई भी दालें नहीं मिल पाई हैं। बताया जा रहा है कि पीछे से ही दालों की सप्लाई गोदामों में नहीं हो पाई है। इसके चलते राशनकार्ड धारकों को दुकानों से महंगे दामों पर दालें खरीदनी पड़ रही है। राशनकार्ड धारकों के आटे व चावल में भी कटौती की गई है। जुलाई माह के राशन में राशनकार्ड धारकों को साढ़े पांच किलो चावल और साढ़े 12 किलो आटा ही मिल पाया है। इतने कम राशन में कैसे परिवार को पालन पोषण होगा यह एक चिंता का विषय है। यही नहीं जिला के अधिकतर राशनकार्ड धारकों को दालों के साथ-साथ कहीं तेल तो कहीं चीनी नहीं मिल पाई है। राशनकार्ड धारक भी आधा-अधूरा राशन मिलने से काफी खफा हैं। उन्हें बाजार से हर माह महंगे दामों पर राशन खरीदना पड़ रहा है। ऐसे में गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों को घर का खर्च निकालना दिन-प्रतिदिन मुश्किल हो गया है।

You might also like