ड्राइवर को प्रताडि़त करने पर चालक-परिचालक संघ उग्र

कुल्लू—जिला कुल्लू विभागों के चालकों को अधिकारियों द्वारा प्रताडि़त किया जा रहा है। ऐसे में चालक-परिचालक संघ ने रोष व्यक्त किया। वहीं, विभाग को चेताया है कि यदि अधिकारियों का चालकों को प्रताडि़त करने का सिलसिला रहा तो राजकीय अर्द्ध चालक-परिचालक महासंघ कुल्लू सड़कों पर उतर कर आंदोलन करने से गुरेज नहीं करेगी।  कुल्लू जिला में विभाग का एक ऐसा कारनामा सामने आया है, जिस पर संघ उग्र हो गया है। संघ के मुताबिक लोक निर्माण विभाग सब-डिविजन कटराईं के एक चालक को गाड़ी में नहीं, बल्कि दफ्तर में बिठाया गया है और बेलदार के पास गाड़ी चलाने को दी गई। वहीं, चालक को प्रताडि़त किया जा रहा है। इसी मसले को लेकर चालक-परिचालक संघ ने एक बैठक आयोजित की, जिसमें आगामी रणनीति के बारे में निर्णय लिया गया। बता दें कि राजकीय अर्द्ध राजकीय चालक परिचालक महासंघ कुल्लू की आम बैठक कटराईं में संपन्न हुई। इस बैठक का आयोजन हिमाचल प्रदेश लोक निर्माण विभाग कटराइर्ं के विश्राम गृह में किया गया। बैठक में सभी खंडों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया और जिला कुल्लू के अध्यक्ष को अपनी-अपनी समस्याओं से अवगत करवाया गया। कटराइर्ं खंड के महासचिव इंद्र ने अध्यक्ष से आग्रह किया कि कटराइर्ं में चालकों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। यहां पर चालक को गाड़ी न देकर अन्य को गाड़ी दी जा रही है, जबकि चालक को किसी भी गलती के बिना ही दफ्तर में बैठाया गया है। चालक परिचालक महासंघ कुल्लू के महासचिव प्रदीप शर्मा ने सभी खंडों के प्रतिनिधियों की समस्या के बारे में प्रधान से आग्रह किया कि इन समस्याओं का जल्दी से निपटारा किया जाए। इस बैठक में बंजार के गिरधारी लाल जगत राम, भुंतर से वेद,  दूनीचंद, शिवलाल, जगत राम, कुल्लू से प्रीतम चंद, हरदयाल, मस्तराम, अमरचंद, कटराईं से इंद्र नेगी, लालचंद, कर्मचंद, जितेंद्र, अमरचंद, तुलाराम, प्रेम, जीतराम, मणिकर्ण से चने राम, बुद्धा, घनश्याम, कामनाथ चोबे राम, अमरजीत, विकास, ओम प्रकाश आदि सदस्य उपस्थित रहे।  उधर, लोक निर्माण विभाग के एसडीओ अजय गुलेरिया ने कहा कि चालक अवकाश पर गया था। ऐसे में दूसरा कर्मचारी गाड़ी चला रहा था। लेकिन गाड़ी को चालक ही चलाएगा।

You might also like