दरकाली में साहिब लक्ष्मीनारायण के जन्मदिन की धूम

रामपुर बुशहर—रामपुर उपमंडल के दुर्गम क्षेत्र दरकाली में देवता साहिब लक्ष्मी नारायण का जन्मदिन बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। आयोजन में दूर दूर से श्रद्धालु पहुंचे और देवता का आर्शिवाद प्राप्त किया। इस दौरान आयोजन कमेटी की ओर से वॉलीबाल प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में क्षेत्र की करीब दस टीमों ने भाग लिया, जिसमें शानदार प्रदर्शन करते हुए रोहडू की टीम ने प्रथम स्थान हासिल किया। विजेता टीम को नकद ईनाम व ट्राफी भेंट कर सम्मानित किया गया। दरकाली में 15 जुलाई को हर वर्ष देवता लक्ष्मीनारायण का जन्मदिन मनाया जाता है। इस दिन हर ग्रामीण अपने अपने घर में देवता की अराधना करते है वहीं देवता के मंदिर में भी खूब रौनक होती है। इसके अगले दिन यहां पर दकनौल मेले का भी आयोजन किया जाएगा। जानकारी के मुताबिक वर्ष 2008 में देवता का मंदिर जलकर स्वाह हो गया था। जिसके बाद एक वर्ष के रिकार्ड समय में ग्रामीणों ने फिर से अपने इष्टदेव का मंदिर तैयार किया और वर्ष 2009 में देवता अपने मुख्य जगह रोहडु स्थित देवीधार से पूरी तरह से बनकर वापिस अपने दरकाली क्षेत्र में लौटे। अपने देवता को फिर से पहले जैसा देखकर ग्रामीण खासे उत्साहित हुए। जिसके बाद ग्रामीणों ने ये ऐलान किया कि इस दिन को हर वर्ष देवता के जन्मदिन के तौर पर मनाया जाएगा। जिसके बाद ये चलन शुरू हुआ और हर वर्ष दकनौल के ठीक एक दिन पहले देवता साहिब लक्ष्मीनारायण का जन्मदिन बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस मौके पर हाल ही में बनी मंदिर कमेटी के सभी सदस्य प्रधान गंगा सिंह पाकला, उप प्रधान विशेषरलाल, सचिव जय सिंह पाकला, कोषाध्यक्ष दर्शन दास, भंडारी चुनीलाल मौजूद रहे। सभी ने सुबह सबसे पहले मंदिर में चल रही पूजा में हाजरी भरी। जिसके बाद देवता साहिब को मंदिर से बाहर प्रांगण में निकाला गया। जहां पर ग्रामीणों ने अपने इष्टदेव से आर्शीवाद लिया और क्षेत्र की सुख समृद्वि की कामना की। इस दौरान ग्रामीणों द्वारा नाटियों का खूब दौर चला। देवता ने भी गुर के माध्यम से सभी को सुख समृद्वि का आर्शीवाद दिया।

You might also like