नग्गर में सजी सिरमौर के चित्रकार दीपराज की पेंटिंग्स

पतलीकूहल—अंतरराष्ट्रीय रौरिक मेमोरियल ट्रस्ट नग्गर कुल्लू में रविवार को प्रदेश के सिरमौर जिला के चित्रकार दीप राज विश्वास की आधुनिक चित्रकला की प्रदर्शनी का शुभारंभ हुआ, जिसका उद्घाटन भारतीय क्यूरेटर रमेश चंद्रा व ट्रस्ट में रशियन सहायक क्यूरेटर दमित्री सुरगिन द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। मुख्यातिथि द्वारा कलाकार की कला क्षमता की सराहना करते हुए कलाकार को कला के विकास की नई आशा की संज्ञा दी। प्रदर्शनी में एकर्लिक व जलरंग माध्यम में चित्रित लगभग 75 चित्र प्रदर्शन पर हैं। अधिकांश चित्र प्रकृति के नैसर्गिक सौंदर्य की छटा बिखेर रहे हैं। दीपराज विश्वास हलाण-2 में सरकारी स्कूल में अध्यापक हैं। उनकी चित्रकला में इतनी रुचि है कि वह कई बार रविवार के दिन और अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के समय हैलना रौरिक अकादमी में बच्चों को  अपनी चित्रकला का ज्ञान निःशुल्क देते हैं। दीप राज विश्वास के चित्रों का विषय प्रकृति के अतिरिक्त हिमाचल प्रदेश का जन जीवन, पशु पक्षी संसार, बौद्ध कला, गणेष व श्री कृश्ण लीला पर आधारित हैं। कलाकार दीपराज विश्वास ने रौरिक आर्ट गैलरी में अपनी कला प्रदर्शनी के आयोजन से प्रसन्नता व गौरव की अनुभूति के साथ ट्रस्ट प्रबंधन का उन्हें अवसर प्रदान करने के लिए आभार प्रकट किया है। इस प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह  पर हैलेना रौरिक अकादमी नग्गर के बच्चों और अध्यापक, कुल्लू घाटी के गणमान्य लोग, उनके दोस्त, देश विदेश के पर्यटकों ने भाग लिया। इस अवसर पर उनकी पत्नी सुनीता कुमारी भी उनके साथ रहीं।

You might also like