नौकरियों में एससी/एसटी कोटा तय सीमा से ज्यादा

नई दिल्ली – केंद्र सरकार की नौकरियों में एससी और एसटी समुदाय से आने वाले लोगों का प्रतिनिधित्व उनके लिए तय प्रतिशत से ज्यादा है। हालांकि, अन्य पिछड़ा वर्ग का प्रतिनिधित्व उनके लिए तय प्रतिशत से कम है। सरकार ने बुधवार को लोकसभा में यह जानकारी दी। कार्मिक मंत्रालय में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि सितंबर 1993 में ओबीसी के लिए आरक्षण लागू होने के बाद से उनका प्रतिनिधित्व बढ़ रहा है। उपलब्ध सूचनाओं के मुताबिक पहली जनवरी, 2012 को ओबीसी का प्रतिनिधित्व 16.55 प्रतिशत था, जो पहली जनवरी 2016 को बढ़कर 21.57 प्रतिशत हो गया। 78 मंत्रालयों और विभागों ने जानकारी दी है कि पहली जनवरी, 2016 तक केंद्र सरकार की नौकरियों में एससी, एसटी और ओबीसी का प्रतिनिधित्व क्रमशः 17.49 प्रतिशत, 8.47 प्रतिशत और 21.57 प्रतिशत था। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि एससी और एसटी का प्रतिनिधित्व उनके लिए तय आरक्षण (क्रमशः 15 प्रतिशत और 7.5 प्रतिशत) से ज्यादा है। केंद्र सरकार की नौकरियों में ओबीसी का प्रतिनिधित्व 21.57 प्रतिशत है, जो उनके लिए तय आरक्षण (27 प्रतिशत) की तुलना में कम है।

You might also like