परिजनों को सौंपा बच्ची का शव

धर्मशाला—भागसूनाग में शनिवार को भू-स्खलन की चपेट में आकर घायल हुए ऊना जिला के इसपुर गांव के सात लोगांे का उपचार  टांडा में चला हुआ है। वहीं, इस दुर्घटना  में जान गंवाने वाली आठ माह की बच्ची लवदीप का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनांे को शव सौंप दिया है। घटना में घायल हुए लोगांे को जिला प्रशासन की ओर से फौरी राहत भी जारी की गई है। इतना ही नहीं, प्रशासन ने सरकार की तरफ से पीडि़त परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए भी मामला प्रदेश सरकार को भेजने की प्रक्रिया आरंभ कर दी है।  ऊना जिला के ईसपुर गांव से संबंध रखने वाले जगपाल सिंह, उनकी पत्नी ऊषा देवी तथा  उनके तीन बच्चे सात वर्षीय प्रीत, छह वर्षीय वंंछिका तथा तीन वर्षीय अरनव और अच्छर सिंह तथा उनकी पत्नी सुनीता देवी अपनी आठ माह की बेटी लवदीप के साथ भागसूनाग शिव मंदिर में दर्शन करने के बाद झरने की तरफ जा रहे थे। इसी दौरान रास्ते में वाटरफाल के पास अचानक भू-स्खलन होने के कारण पहाड़ी से गिरे पत्थरांे की चपेट में उक्त सभी लोग आ गए। उधर, चिकित्सा अधीक्षक टांडा डा. सुरिंद्र सिंह भारद्वाज ने बताया कि सात घायलांे का उपचार टांडा अस्पताल में ही चल रहा है। इसमें जिन घायलांे के आपरेशन की आवश्यकता थी, उनके आपरेशन कर दिए गए हैं।

You might also like