पहली जुलाई से 10 फीसदी डीए देगी सोसायटी

गोहर —बैंकिंग क्षेत्र में उत्तरी भारत की अग्रणी दि सीडी को-आपरेटिव के्रडिट सोसायटी गोहर जल्द ही मुख्यमंत्री राहत कोष में दान स्वरूप एक एंबुलेंस भेंट करेगी। जिसके लिए सोसायटी ने नेरचौक में आयोजित अपने 58वें जनरल हाउस (वार्षिक अधिवेशन) में प्रस्ताव पारित किया है। सोसायटी के अध्यक्ष जगदीश रेड्डी की अध्यक्षता में आयोजित किए गए इस वार्षिक अधिवेशन  में सभा ने अपने कर्मचारियों को पहली जुलाई से 10 फीसदी डीए देने का भी निर्णय लिया है। इस निर्णय से सभा को सालाना लगभग 15 लाख रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। इसके अतिरिक्त सोसायटी ने एक साल के अंदर मंडी जिला के विभिन्न क्षेत्रों में 19 नई शाखाएं तथा 13 विस्तार पटल खोलने के प्रस्ताव को भी मंजूरी ली। अध्यक्ष जगदीश रेड्डी ने कहा कि सभा अपने कार्य क्षेत्र (मंडी जिला) का विस्तार करने हेतु जल्द ही रजिस्ट्रार को-आपरेटिव सोसायटी के समक्ष आवेदन करेगी। अनुमति मिलते ही सोसायटी मंडी जिला के अतिरिक्त कुल्लू, कांगड़ा, हमीरपुर, बिलासपुर व शिमला जिलों में भी अपनी ब्रांचे खोलेगी। सनद रहे दि सीडी को-आपरेटिव क्रेडिट सोसायटी गोहर के पास वर्तमान में 59 हजार 768 सदस्य हैं, जिनकी सोसायटी के पास 15 करोड़ रुपए की राशि बतौर शेयर कैपिटल, 115 करोड़ की राशि एफडीआर के रूप में जमा है। सोसायटी ने अपने जरूरतमंद सदस्यों को 107 करोड़ रुपए के ऋण वितरित किए हैं। सभा का वर्तमान में अपना कार्यक्षेत्र मात्र मंडी जिला में ही है, े जिसमें सभा के विस्तार पटलों सहित सभी ब्रांचों की संख्या 42 है। सभा के अधीन करीब दो सौ कर्मचारी अपनी सेवाएं दे रहे हंै। सभा के अध्यक्ष जगदीश रेड्डी का कहना है कि सोसायटी पूर्व  अध्यक्ष स्वर्गीय पंडित शिवलाल के पद चिन्हों पर चलकर इसे और अधिक ऊंचाइयों पर पहुंचाने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि सोसायटी का निदेशक मंडल व तमाम कर्मचारियों के प्रयास से आज सोसायटी ने उत्तरी भारत में अपनी एक अलग पहचान बनाई है।

You might also like