पानी से डूबे गांवों में पहुंचीं चित्रा

अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव ने जाना लोगों का दर्द

चंडीगढ़ -अंबाला छावनी से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव  चित्रा सरवारा ने कहा कि लगभग एक घंटे की बरसात ने प्रशासन व मंत्री द्वारा करवाए जा रहे खोखले विकास कार्यों की पोल खोल के रख दी । चित्रा ने भरे हुए पानी में अंबाला छावनी के गांव बोह, आनंद नगर, सूर्य नगर, किस्मत नगर इत्यादि कई इलाकों में जाकर पानी में डूबे हुए लोगों के घरो में जाकर मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने लोगों को आ रही समस्याओं को देखा व वहां बंद पड़ी ड्रेन को तुरंत सामने खड़े होकर मौके पर ही खुलवाया। इस मौके पर उन्होंने जलभराव की समस्या पर तुरंत अधिकारियों से बातचीत कर उनका मौके पर ही समाधान किया। चित्रा ने कहा कि मात्र कुछ घंटे की बारिश के बाद पूरा अंबाला छावनी तालाब में तब्दील हो गया है, जिसके बाद लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, बावजूद इसके अंबाला प्रशासन व नगर निगम के कई अधिकारी मंत्री के निवास स्थान पर भरे पानी को निकालने में व्यस्त रहे। परंतु उन अधिकारियों ने एक बार भी अंबाला छावनी की जनता की सुध लेना जरूरी नही समझा। जबकि अंबाला के कई इलाके ऐसे थे, जहां शाम तक भी कई फुट पानी खड़ा रहा, जिसके बाद लोग खुद ही सुबह से शाम तक अपने घरों व दुकानों से पानी निकालते देखे गए। लेकिन बारिश होने के बाद भी अगले दिन दोपहर बाद तक कोई भी प्रशासन का अधिकारी कैंट के किसी भी इलाके में लोगों की सुध लेने तक नहीं पहुंचे। चित्रा ने बताया कि हर साल नालों व नालियों की सफाई के लिए लाखों रुपए खर्च करने का दावा करने वाले व अंबाला को बाढ़मुक्त बताने वाले मंत्री व प्रशासन आज कहा थे। इस अवसर पर चित्रा के साथ पूर्व पार्षद जरनैल सिंह माजरा, ओंकार नाथी, सुरिंदर बोह, अशोक, रामकुमार, सुरिंदर दलीपगढ़, रमन धीमान, आकाश शर्मा, पंकज बोह व संदीप इत्यादि मौजूद रहे।

You might also like