पालमपुर में रफ्तार पकड़ने लगा मानसून

पालमपुर—अब तक सुस्त चल रहे मानसून ने पालमपुर में रफ्तार पकड़नी शुरू कर दी है। हालांकि मानसून सीजन में अभी भी पालमपुर में बारिश का ग्राफ  सामान्य से काफी कम है। सोमवार को पालमपुर में खूब बारिश हुई और 37 मिमी बारिश के साथ बीते सप्ताह क्षेत्र में कुल 77.8 मिमी बारिश दर्ज की गई है। हालांकि साल के 28वें सप्ताह में पालमपुर में दर्ज की जाने वाली 143.1 मिमी के मुकाबले यह आंकड़ा बेहद कम है। पालमपुर में नौ जुलाई को 10.5, दस को 4.5, 11 को 5.6, 13 को 6.2, 14  को 14 और सोमवार को 37 मिमी बारिश दर्ज की गई है। आठ जुलाई को दर्ज की गई 49 मिमी बारिश के बाद सोमवार को ही इस माह बारिश का ग्राफ  30 मिमी के पार गया है। इस सप्ताह पालमपुर क्षेत्र का अधिकतम और न्यूनतम तापमान 25.5 से 28.5 डिग्री सेल्सियस और 17.5 से 21.0 के बीच रहा, जो सामान्य से 0.3 से 1.7 डिग्री सेल्सियस और 0.1 से 1.0 डिग्री सेल्सियस के ऊपर था। जबकि 143.1 मिमी सामान्य के मुकाबले सप्ताह के दौरान 77.8 बारिश हुई। आने वाले कुछ दिनों के दौरान बारिश जारी रहने की आशंका जताई गई है। प्रदेश कृषि विवि के वैज्ञानिकों के अनुसार जहां पर्याप्त बारिश हुई है, वहां मक्के की बुआई तुरंत पूरी की जानी चाहिए, चावल की रोपाई को तुरंत पूरा करें। मक्का स्प्रे में खरपतवार नियंत्रण के लिए बुआई के 48 घंटे के भीतर 800 लीटर पानी में एट्रीजीन 1.75- 2.25 लीटर प्रति हेक्टेयर की दर से छिड़काव करें। जो किसान नए बागबानी पौधे लगाना चाहते हैं, उन्हें आवश्यकता के अनुसार गड्ढे खोदने की सलाह दी जाती है। आम के हॉपर नियंत्रण के लिए मस्क्रान या नुआक्रान  40 मिली या 200 मिली प्रति 200 लीटर पानी में डाल कर स्प्रे करें । लीची में फल छेदक से बचाव के लिए 15 दिन के अंतराल पर साइपरमेथ्रिन दस ईसी प्रति एक मिली प्रति लीटर पानी में मिलाकर स्प्रे कर देना चाहिए।

इस साल सामान्य से कम बारिश

इस साल अब तक पालमपुर में बारिश का ग्राफ सामान्य से कम दर्ज किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार अब तक पालमपुर में औसत बारिश का आंकड़ा 937.5 मिमी रहता है जबकि इस वर्ष अब तक मात्र 768.9 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

You might also like