प्रियंका पर गरमाई कांग्रेस

सोनभद्र में पीडि़तों से न मिलने देने पर पार्टी ने यूटी में किया बीजेपी के कार्यालय का घेराव

चंडीगढ़  – चंडीगढ़ कांग्रेस द्वारा सोनभद्र में हुए नरसंहार में पीडि़तों के परिजनों को संवेदना व्यक्त करने जा राष्ट्रीय कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को जाने से रोकने व अनैतिक तरीके से गिरफ्तार करके परिजनों से न मिलने देने के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन की अगवाई करते अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा व पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन बंसल व सैकड़ों कार्यकर्ता कांग्रेस भवन सेक्टर-35 से बीजेपी ऑफिस का घेराव करने के लिए आगे बढ़े, तो सेक्टर-34 में पुलिस द्वारा बेरिकेट्स लगा कर कांग्रेसियों को रोकने की कोशिश की, जिस में पुलिस के साथ प्रदीप छाबड़ा, पवन बंसल व कार्यकर्ताओं के साथ झड़प हो गई और खूब धक्का मुक्की हुई, जिस पर पुलिस ने बल का प्रयोग किया और स्थिति को बिगड़ता देख पुलिस ने सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर सेक्टर-34 में थाने में नजरबंद कर दिया। प्रदीप छाबड़ा ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व प्रधानमंत्री को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि प्रियंका गांधी को सोनभद्र नरसंहार के पीडि़त परिजनों को मिलने क्यों नहीं दिया गया, नरसंहार का दंश झेल रहे गरीब आदिवासियों से मिलने, उनकी व्यथा-कथा जानने का हर जनता के सेवक का धर्म भी है और नैतिक अधिकार भी तो फिर किस कानून के अंतर्गत प्रियंका को जाने से रोका गया व गिरफ्तार किया, ये अलोकतांत्रिक है, जिसे बर्दाशत नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम धन्यवाद करते है प्रियंका गांधी का जिन्होंने अडिग रहकर परिजनों को मिले बिना न जाने का फैसला लिया और कामयाब भी हुई। इस प्रदर्शन में मौजूद वरिष्ठ नेताओं में डीडी जिंदल, दविंदर सिंह बबला, भूपिंदर सिंह बढ़ेरी, हरफूल चंद्र कल्याण, मोहम्मद सादिक शिलाफुल सिंह, गुरबख्श रावत, सतीश कैंथ, कमलेश बनारसीदास, गुरप्रीत सिंह गाबी, हरमेल केसरी, यादविंदर मेहता, धर्मवीर, जगजीत कंग, अनिता शर्मा, दीपा दुबे, भजन कौर, प्रेमलता, सतीश मचल, संजय भजनी, मनु दुबे, जतिंदर धामी, राज नागपाल, हरजिंदर बाबा, अमनदीप सिंह, नरिंदर सिंह, मंजीत सिंह चौहान, संजीव गाभा, जेड पी खान,  हीरालाल कुंद्रा, ममता, राणो, वरिंद्र रावत, धर्मवीर सिसोदिया, प्रेमपाल चौहान, रवि ठाकुर, जतिंदर यादव, ज्योति, मीनू, राकेश बरोटिया, चंदा, ओमकला यादव, ओमवती, पूनम वर्मा व तारा मौजूद रहीं।

You might also like