बंद कमरे में बीपीएल की लिस्ट तैयार

खुड्डी खाहन के ग्रामीणों ने पंचायत प्रतिनिधियों पर चहेतों को लाभ पहुंचाने के जड़े आरोप

सरकाघाट—पंचायतों में आईआरडीपी व बीपीएल परिवारों के चयन को लेकर ग्राम सभाओं के आयोजन के बाद आरोपों व शिकायतों का सिलसिला शुरू हो गया है। ग्राम पंचायत खुड्डी खाहन में हुए पंचायत के जनरल हाउस को लेकर अब ग्रामीणों ने आरोप लगाए हैं। आधा दर्जन से अधिक परिवारों ने  एसडीएम सरकाघाट के पास पहुंच कर इस बारे में शिकायत कर जांच की मांग की है। आरोप है कि पंचायत ने बंद कमरे में ही लिस्ट को तैयार कर लिया। पंचायत में करीब 90 लोगों ने अपने शपथ पत्र दाखिल किए थे। जबकि 72 परिवार पहले से ही आईआरडीपी व बीपीएल में हैं। पंचायत के भीम देव, काहन सिंह, मेहर चंद, हंश राज, हिमा देवी, सतपाल शर्मा, गीता देवी, डोलमा देवी, रीता देवी और रोशन लाल ने बताया कि पंचायत में जनरल हाउस तो रस्म अदायगी मात्र हुआ है, जबकि पंचायत प्रतिनिधियों ने पहले ही अपने सगे-संबंधियों की लिस्ट पहले ही तैयार कर ली थी और बंद कमरे मंे लिस्ट को अंतिम रूप दे दिया गया। ग्रामीणों का आरोप है कि ग्रामसभा की बैठक में स्थानीय पटवारी भी चार बजे पहुंचे। ग्रामीणों ने शिकायत पत्र में आरोप लगाते हुए कहा है कि जिनके पास पक्का मकान, गाड़ी, जमीन और अच्छी आमदन है, उन्हें लिस्ट में शामिल किया गया है। हंसराज ने बताया कि पात्र होने के बाद उन्हें लिस्ट में नहीं लिया गया। इसी तरह से विधवा हिमा देवी और अपंग गीता देवी को भी लिस्ट में नहीं लिया गया है। इसी तरह कई ऐसे अन्य लोग हैं, जिन्हें पात्र होने के बाद बीपीएल में नहीं चुना गया। वहीं इस बारे में स्थानीय ग्राम पंचायत  प्रधान राजकुमार ने बताया कि आईआरडीपी बीपीएल चयन गाइड लाइन के अनुसार जनरल हाउस की सहमति से हुआ है। किसी तरह का भेदभाव किसी के साथ नहीं हुआ है और पात्र व्यक्तियों को ही चुना गया है।

You might also like