बड़साला की प्रीति शर्मा बनेगी इलेक्ट्रीशियन

ऊना -कहते हैं कि बेटी अनमोल है। किसी भी क्षेत्र में बेटियां, बेटों से पीछे नहीं है। यह कहावत ऊना जिला के अंतर्गत बड़साला की प्रीति शर्मा ने चरितार्थ की है। प्रीति शर्मा आईटीआई ऊना में इलेक्ट्रीशियन का कोर्स कर रही है। इसमें अहम बात यह है कि ऊना आईटीआई में इलेक्ट्रीशियन के चल रहे ट्रेड में 21 स्टूडेंट्स हैं। इसमें केवल मात्र एक अकेली छात्रा प्रीति शर्मा हैं। इलेक्ट्रीशियन ट्रेड में अधिकतर छात्र ही मिलते हैं। शायद ही प्रदेश में कोई औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान ऐसा जहां पर इलेक्ट्रीशियन ट्रेड में छात्रा अपनी पढ़ाई पूरी कर रही है। आईटीआई ऊना में छात्रा भी इलेक्ट्रीशियन का कोर्स कर रही है। जोकि संस्थान के लिए भी गर्व की बात है। अपना कोर्स पूरा कर यह छात्रा सरकारी नौकरी हासिल करने की इच्छा संजोए हुए है, ताकि भविष्य में अपने परिवार का सहारा भी बन सके। प्रीति शर्मा जल्द ही अपनी शिक्षा आईटीआई ऊना से पूरी करने वाली है। अंतिम सेमेस्टर के बाद वह सरकारी, गैर सरकारी क्षेत्र में नौकरी के लिए आवेदन करेंगी, ताकि नौकरी हासिल कर वह आत्मनिर्भर भी बन सके। प्रीति शर्मा का कहना है कि उनकी शुरू से ही इलेक्ट्रीशियन में रुचि थी। दसवीं कक्षा पास करने के बाद उन्होंने आईटीआई में दाखिला लिया। उन्होंने कहा कि उन्हें इसके लिए प्रेरित करने में उनके चाचा का अहम योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि बेटियां किसी से कम नहीं है। हर क्षेत्र में बेटियों ने अपनी नई पहचान बनाई है। वह भी यहां से इलेक्ट्रीशियन ट्रेड की पढ़ाईपूरी कर सरकारी नौकरी हासिल करेंगी। बता दें कि प्रीति शर्मा के पिता बलराज किसान हैं और मां पूजा देवी गृहिणी हैं। इलेक्ट्रीशियन ट्रेड में दाखिला लेने के लिए परिजनों ने भी उनका हौंसला बढ़ाया है। इसके चलते आज प्रीति शर्मा अपना इलेक्ट्रीशियन का कोर्स पूरा करेंगी। उधर, आईटीआई ऊना के प्रधानाचार्य यशपाल रायजादा ने कहा कि उनके लिए भी गौरव की बात है कि उनकी आईटीआई को इस तरह की होनहार प्रशिक्षु मिली है। उन्होंने भी प्रीति शर्मा के उज्ज्वल भविष्य की कामना की है। उन्होंने कहा कि बहुत कम छात्राएं इस तरह की होती हैं जोकि पुरुषों के ट्रेड में दाखिला लेती हैं, लेकिन प्रीति शर्मा ने इलेक्ट्रीशियन ट्रेड में दाखिला लिया है।

You might also like