बरसात में जिला की सड़कों के रखरखाव पर दंे विशेष ध्यान दें

नाहन—उपायुक्त सिरमौर डा. आरके परूथी ने लोक निर्माण विभाग को निर्देश देते हुए कहा है कि जिला की मुख्य एवं संपर्क सड़कों के रखरखाव पर विशेष ध्यान रखा जाए तथा भारी वर्षा और भू-स्खलन के कारण जो संपर्क सड़कें बंद हुई हैं उन्हें युद्धस्तर पर खोला जाए। उपायुक्त ने कहा कि जिला में इन दिनों टमाटर व अन्य सब्जियां तैयार हुई हैं और इन्हें मंडियों में पहुंचाने के लिए सड़कों का ठीक होना अनिवार्य है। उन्होंने विभाग को निर्देश दिए कि जिला में जिन स्थानों पर हर वर्ष भू-स्खलन के कारण सड़कें बंद हो जाती हैं ऐसे चिन्हित स्थलों पर जेसीबी मशीन इत्यादि का विशेष प्रबंध किया जाए, ताकि वाहनों की आवाजाही अवरुद्ध न हो। उन्होंने विभाग को निर्देश दिए कि बरसात के मौसम में मशीनरी व श्रमशक्ति को हर समय तैयार रखें और जिला के किसी भी क्षेत्र से सड़क बंद होने की सूचना मिलने पर तुरंत कार्रवाई की जाए, ताकि लोगों को कोई परेशानी पेश न आए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला में विभाग के अधीनस्थ अधिकारियों व कर्मचारियों को अपरिहार्य कारणों को छोड़कर अवकाश स्वीकृत न किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि जिला में चिन्हित ब्लैक स्पॉट की मरम्मत भी समय पर की जाए, ताकि बरसात में किसी प्रकार की दुर्घटना होने की संभावना उत्पन्न न हो। उपायुक्त ने सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि जिला में सभी पेयजल योजना के रखरखाव पर विशेष ध्यान दिया जाए और यदि भारी बरसात अथवा भू-स्खलन के कारण कोई पेयजल योजना को क्षति पहुंचती है तो उस स्थिति में विभाग पेयजल सुविधा बहाल करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य करें। उन्होंने विद्युत बोर्ड को भी निर्देश जारी करते हुए कहा कि बरसात के दिनों में विद्युत आपूर्ति बनाए रखने के लिए विशेष प्रबंध किए जाएं। उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों में अकसर बिजली की लाइनें टूट जाती हैं तथा ऐसी संभावित लाइनों की मरम्मत के लिए विशेष पग उठाए जाएं। उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों में विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति बाधित रहती है, जिसके लिए विद्युत बोर्ड को समय पर पुख्ता प्रबंध करने होंगे, ताकि जिला के सभी क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति सामान्य बनी रहे। उपायुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा लोगों की सुविधा के लिए टोल फ्री नंबर 1077 स्थापित किया गया है जोकि 24 घंटे क्रियाशील है और इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति भारी वर्षा से हुए नुकसान अथवा किसी प्रकार की आपात स्थिति में सहायता के लिए संपर्क कर सकता है। इसके अतिरिक्त जिला के सभी एसडीएम और तहसील कार्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि भारी वर्षा इत्यादि से यदि किसी प्रकार की जानमाल की क्षति होती है तो उस स्थिति में प्रभाावित परिवारों को राहत इत्यादि प्रदान की जाए तथा उनके पुनर्वास की उचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। अधीक्षण अभियंता लोक निर्माण विभाग महेश सिंघल ने जानकारी दी कि जिला में भारी वर्षा से छह सड़कें आंशिक रूप से बंद हो गई थी जो कि वाहनों की आवााजाही के लिए खोल दी गई हैं।

You might also like