बस नहीं भेजी… अब देखना

कुफरी-भड़वाहण के लोगों ने लिया कड़ा फैसला,25-26 को करेंगे चक्का जाम

पद्धर -पद्धर क्षेत्र के इलाका दूंधा की ग्राम पंचायत कुफरी और भड़वाहण के लोगों ने स्कूल, कालेज और आम जनता को हिमाचल पथ परिवहन निगम की बस सुविधा समय पर न मिलने और नई बस रूटों की की गई मांग पूरा न होने के विरोध में 25 और 26 जुलाई को गांव सरौंझ में चक्का जाम करने का निर्णय लिया है। इस बारे जनता ने प्रशासन  को आगाह कर दिया है। जनता की मांग पूरा न होने पर 29  जुलाई को कुन्नु में चक्का जाम किया जाएगा। कुफरी पंचायत प्रधान ओम प्रकाश ठाकुर,भड़वाहण पंचायत के प्रधान कमांडो जितेंद्र कुमार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सरौंझ के स्कूल प्रबंधन समिति अध्यक्ष नागेंद्र सिंह, पूजा कुमारी, अंजना, रूपा ठाकुर, रीना ठाकुर, सुनीता देवी, दीक्षा ठाकुर, कविता ठाकुर, वंदना, मनीषा कुमारी, शिल्पा कुमारी, सरिका कुमारी, शिवानी ठाकुर, मोनिका देवी, शालु देवी, प्रियंका, शिया देवी, प्रिया ठाकुर, पूजा देवी, लोकेश कुमार, सुमित कुमार, सविता देवी, घनश्याम, हेम राज, कलपना देवी ने बताया कि क्षेत्र से अधिकांश छात्राएं नारला स्थित द्रंग महाविद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने जाती है। रोजाना बसों में ओवरलोडिंग होने और छात्राओं को बस की सुविधा न मिलने से उन्हें जंगल के एकांत रास्ते से होकर पैदल कालेज और घर पहुंचना पड़ता है। विरान रास्ता होने के कारण कालेज की छात्राएं जरा भी सुरक्षित नहीं है। कालेज छात्राओं को बस सुविधा न मिलने से अभिभावक भी रोजाना चिंता में रहते हैं। भड़वाहण पंचायत प्रधान कमांडो जितेंद्र कुमार और एसएमसी प्रधान नागेंद्र सिंह ने बताया कि कुन्नू सरौंझ कुफरी रूट पर नई बस सेवा लगाने की मांग उपायुक्त मंडी के माध्यम से मंडलीय प्रबंधक मंडीए आरएम एचआरटीसी मंडी और बैजनाथ से की गई, लेकिन निगम लोगों को सुविधा देने की सुध नहीं ले रहा है। जन प्रतिनिधियों ने  निगम प्रबंधन से मांग की है कि रूट पर चलने वाली बस सेवा कुन्नू से सुबह आठ बजे बाया सरौंझ कुफरी और दोपर बाद 2ः30 बजे कुफरी बाया सरौंझ कुन्नू के लिए चलाई जाए। क्षेत्र के लोगों ने बस सुविधा शुरू न होने को लेकर चक्का जाम का निर्णय लिया है। इस बारे पुलिस अधीक्षक मंडी को भी सूचना दे दी गई है। कमांडो जितेंद्र ने कहा कि चक्का जाम की पूरी जिम्मेवारी एचआरटीसी प्रबंधन और प्रशासन की होगी।

You might also like