बारिश में दरकने लगी पहाडियां

धर्मशाला—पर्यटन नगरी धर्मशाला-मकलोडगंज के भागसूनाग मंदिर के पास भू-स्खलन से एक परिवार मलबे की चपेट में आ गया। हादसे में आठ माह की बच्ची की मौत हो गई, जबकि सात लोग घायल हो गए। यह अभागा परिवार ऊना जिला के हरोली विधानसभा क्षेत्र के ईसपुर गांव का है, जो कि मकलोडगंज घूमने आया था। जानकारी के मुताबिक परिवार के आठ सदस्य भागसूनाग मंदिर में दर्शन करने के बाद झरने की तरफ जा रहे थे कि इसी दौरान रास्ते में वाटरफॉल के रास्ते में अचानक ऊपर से मलबा गिरने पर  ये हादसा पेश आया है। कुछ पहले खड़ा डंडा रोड पर भी पहाड़ी दरकने से मार्ग पूरी तरह से बंद हो गया था। बाद में लोक निर्माण विभाग ने मोर्चा संभालते हुए सड़क को लोगों की सुविधा के लिए खोल दिया था। उधर, गरली अनाथ आश्रम से 14 साल की लड़की के भाग जाने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। इससे आश्रम के कर्मचारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। वहीं, नदी व नालों के किनारे पानी में न उतरने के प्रशासन द्वारा लगाए गए बोर्ड शोपिस बन कर रह गए हैं। पहाड़ों की खड्डों के पानी से अनजान बाहरी राज्यों के सैलानी बेखौफ पानी में उतर रहे हैं।

नदी-नालों में लगे स्टोन क्रशर होंगे बंद

प्रदेश की नदियों, खड्डों व बावडि़यों के 100 मीटर दायरे में लगे स्टोन क्रशर बंद करने पड़ेंगे, क्योंकि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल अपने फैसले पर बरकरार है। सूत्रों की मानें तो हिमाचल के तर्क को एनजीटी ने नहीं माना है और साफ कहा है कि उसके द्वारा दी गई व्यवस्था में अमल करना होगा। ऐसा हुआ, तो यहां पर अधिकांश क्रशर बंद हो जाएंगे।

कालेजः कालेजों में एबीवीपी का प्रदर्शन

बीते सप्ताह कांगड़ा जिला के विभिन्न डिग्री कालेजों में एबीवीपी ने परीक्षा परिणाम में देरी और दस कार्यकर्ताओं के निष्कासन के विरोध में परिसर में विरोध-प्रदर्शन किया। एबीवीपी ने अपना सदस्यता अभियान भी लगातार जारी रखा। इसके साथ ही प्रतियोगिताओं में खिलाडि़यों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। 

धार्मिकः शिवालयों में भोलेनाथ के जयकारे

सावन माह शुरू होने के चलते शिवालय जय भोलेनाथ के उद्घोष से गूंजे रहे हैं। लोगों ने शिवालयों में पहुंचकर भोलेनाथ के दर्शन किए। वहीं, परिवार सुख समृद्धि की कामना भी की। इसके अलावा प्रसिद्ध शक्तिपीठ कांगड़ा, चामुंडा व ज्वालामुखी में भी श्रद्धालुओं की भीड़ रही। 

शैक्षणिक संस्थानः दाखिले को छात्रों का मेला

कालेज में दाखिला लेने के लिए युवाओं में खासा क्रेज देखा गया। विश्वविद्यालय की ओर से दाखिला लेने के लिए 20 जुलाई अंतिम तारीख निर्धारित की गई थी। इसके चलते जो नए स्टूडेंट्स दाखिला लेने से वंचित रह गए थे, उन्होंने दाखिला लिया। इससे कालेजों में दाखिला लेने के लिए युवाओं की काफी भीड़ उमड़ी।

बाजारः धर्मशाला मेंं मंदा रहा कारोबार

धर्मशाला मुख्यालय के बाजार में लोगों की कम ही भीड़ रही, जिसके चलते दुकानदारों को नुकसान झेलना पड़ा है। बाजार में लोगों की आवाजाही कम होने के चलते दुकानदारों का धंधा, मंदा ही रहा। अब सावन माह शुरू होने के चलते लोगों ने खरीददारी के लिए बाजार का रुख किया, लेकिन कोई खास त्योहार न होने के चलते लोगों ने ज्यादा खरीददारी नहीं की।  आगामी दिनों में दुकानदारों को व्यापार में इजाफा होने की उम्मीद है।

मौसमः उमस भरी गर्मी नहीं छोड़ रही पीछा

जिला के लोगों को इस सप्ताह गर्मी से राहत ही मिली रही। हालांकि उमस भरी गर्मी लोगों का अभी भी पीछा नहीं छोड़ रही है। बारिश होने के चलते लोगों को कुछ राहत तो मिली है, लेकिन आगामी दिनों में भी लोगों को उमस भरी इस गर्मी का सामना करना पड़ सकता है। बारिश होने के चलते लोगों को राहत मिल जाती है।

दस से 15 रुपए तक बिक रहा भुट्टा

शहर में भुट्टा हाथों हाथ बिक रहा है। बाजार में जगह-जगह रेहडि़यों पर भुट्टा दस से 15 रुपए में बिक रहा है। लोग इन्हें काफी शौक से खा रहे हैं। रेहडि़यों पर कच्चा व भूना भुट्टा हाथों हाथ बिक रहा है।

You might also like